-फेक मैसेज वायरल कर वोटर में फैलाया जा रहा भ्रम

PATNA: जैसे-जैसे पटना में चुनाव की तिथि नजदीक आ रही है वैसे-वैसे सोशल मीडिया पर शरारती तत्वों की हरकतें भी बढ़ती जा रही है। फेसबुक, वाट्सएप, ट्विटर और इंस्टाग्राम पर इन दिनों एक मैसेज तेजी से वायरल हो रहा है। जिसमें वोटर लिस्ट में नाम नहीं होने के बाद भी वोटर्स को वोटिंग के लिए बूथ पर जाने के लिए कहा जा रहा है। इतना ही नहीं, ये शरारती तत्व इतने ज्यादा चालाक हैं कि मैसेज को कभी डीएम तो कभी चुनाव आयोग के नाम पर प्रचार-प्रसार किया जा रहा है। पटना के डीएम कुमार रवि ने इस वायरल मैसेज का खंडन करते हुए कहा है कि ऐसी कोई व्यवस्था नहीं है।

दिल्ली से हो रहा वायरल

जिला प्रशासन के अधिकारियों का कहना है कि ये मैसेज दिल्ली से आ रहे हैं और तेजी से सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। इसकी सूचना मिलने पर जांच की जा रही है। आईटी एक्सर्ट का कहना है कि इस तरह का मैसेज बिहार के बाहर मुख्य रूप से दिल्ली के किसी शरारती तत्वों ने वायरल किया है। लेकिन आचार संहिता के दौरान ऐसे भ्रामक मैसेज फैलाना कानूनन अपराध है। शरारती तत्वों पर कानूनी कार्रवाई की जाएगी।

तिथि हो चुकी है खत्म

पटना के जिलाधिकारी कुमार रवि ने बताया कि वोटिंग लिस्ट में नाम जुड़वाने की तिथि खत्म हो चुकी है। जिन्हें कोई समस्या है वह टोल फ्री नंबर 1950 पर जानकारी ले सकते हैं। टोल फ्री नंबर पर तैनात कर्मचारी वोटर्स को उनका नाम, विधानसभा और आवेदन नंबर लेने के बाद वस्तुस्थिति की जानकारी दे रहे हैं।

यह हो रहा वायरल

डीएम के नाम से अपील की गई है कि सभी चुनाव में भागीदारी दें। जिनका नाम नहीं है उनके लिए भी विशेष व्यवस्था है। बस बूथ तक पहुंचे। इस मैसेज को ज्यादा से ज्यादा शेयर करें और वोटिंग बूथ पर पहुंचे।

ये मैसेज पूरी तरह भ्रामक है। जिनका नाम वोटर लिस्ट में है वहीं बूथ पर जाएं। लोगों ऐसे मैसेज के बहकावे में नहीं आना चाहिए।

-कुमार रवि, डीएम, पटना