- आजमगढ़ में सोशल मीडिया पर एक्शन में आई पुलिस

- जिले में भी पुलिस कर रही निगरानी, फौरन होगी कार्रवाई

GORAKHPUR@inext.co.in
GORAKHPUR : लोकसभा चुनाव की मतगणना के पूर्व सोशल मीडिया पर ईवीएम से संबंधित किसी तरह की अफवाह फैलाने में जेल जाना पड़ सकता है। ईवीएम में गड़बड़ी, मशीन पकड़े जाने सहित कई अन्य तरह की भ्रामक सूचना देने पर पुलिस मुकदमा दर्ज करके जेल भेज देगी। आजमगढ़ में मामला सामने आने के बाद गोरखपुर पुलिस ने निगरानी बढ़ा दी है। एसएसपी ने कहा कि यहां पर सुरक्षा को पुख्ता प्रबंध किए गए हैं।

माहौल खराब होने की संभावना ने बढ़ाई परेशानी
लोकसभा निर्वाचन 2019 के परिणाम के पूर्व ही ईवीएम में गड़बड़ी किए जाने के संबंध में अफवाहें उड़ने लगी हैं। इसका ज्यादा असर सोशल मीडिया पर नजर आ रहा है। ईवीएम पकड़े जाने से संबंधित वीडियो और फोटो शेयर करके लोग गड़बड़ी की आशंका जता रहे हैं। ऐसे में माहौल खराब होने का संभावना जहां बढ़ गई है, वहीं चुनाव आयोग की सुचिता पर उंगली उठ रही है। इसको देखते हुए पुलिस ने सोशल मीडिया की निगरानी शुरू करा दी है। व्हाट्सएप गु्रप से लेकर फेसबुक आईडी तक पर नजर रखी जा रही है। जिले में सभी डिजिटल वालंटियर्स की टीम को अलर्ट मोड पर रखकर निगरानी करने को कहा गया है। हालांकि जिले में अभी तक कोई ऐसा मामला सामने नहीं आया है।

आजमगढ़ में पुलिस ने आरोपित को किया अरेस्ट
सोशल मीडिया पर फेसबुक आईडी से कई जगहों पर ईवीएम में गड़बड़ी किए जाने की भ्रामक सूचना शेयर किए जाने पर आजमगढ़ पुलिस ने आरोपित की गिरफ्तारी की है। पुलिस का तर्क है कि इस सूचना से राजनीतिक दलों और जनसमुदाय के बीच सौहार्द और शांति व्यवस्था भंग होने की संभावना थी। इसलिए जांच पड़ताल के बाद मुकदमा दर्ज करके आरोपित आजमगढ़ के कन्धरापुर, आखापुर निवासी उमेश गौतम को अरेस्ट कर लिया गया।

सोशल मीडिया पर किसी तरह की अफवाह फैलाने पर मुकदमा दर्ज करके कार्रवाई की जाएगी। ईवीएम की सुरक्षा में कोई कमी नहीं है। सोशल मीडिया की निगरानी की जा रही है।

- डॉ। सुनील गुप्ता, एसएसपी