ROORKEE। कलियर पुलिस ने शादी की पहली रात को ही जेवरात लेकर फरार हुई लुटेरी दुल्हन को गिरफ्तार कर लिया है. इसके साथ ही पुलिस ने गैंग के चार सदस्यों को भी दबोच लिया. इनके कब्जे से 35 हजार रुपए और जेवरात मिले हैं. इस गिरोह ने उत्तराखंड, उप्र समेत कई राज्यों में शादी के नाम पर लूट की घटनाओं को अंजाम दिया है.

जेवरात लेकर फरार हो गई थी दुल्हन

एसपी देहात मणिकांत मिश्रा ने बताया कि धनौरी निवासी अशोक कुमार ने छह मई को कलियर थाने में मुकदमा दर्ज कराया था. जिसमें बताया था कि मुकेश निवासी कडच्छ मोहल्ला ज्वालापुर ने कुछ दिन पहले पूजा उर्फ रीता निवासी कोटद्वार से उसकी शादी तय कराई थी. मुकेश ने बताया था कि यह परिवार गरीब है. इसलिए शादी के खर्च के लिए 50 हजार की रकम अशोक से ली गई. रोशनाबाद कोर्ट में दो अप्रैल को शादी कराई गई. इस दौरान पूजा के पिता महेंद्र भी शामिल थे. शादी की रात को ही दुल्हन पूजा घर से पहने हुए जेवरात लेकर गायब हो गई. सुबह जब दुल्हन गायब मिली तो उसे तलाश किया गया, लेकिन कोई पता नहीं चला. वहीं ज्वालापुर के मौहल्ला कडच्छ में किराए में रहने वाला मुकेश भी गायब मिला.

कई राज्यों में लूट का दिया अंजाम

मुकदमा दर्ज करने के बाद से पुलिस तलाश में लगी थी. गुरुवार शाम को कलियर पुलिस ने टिबड़ी हरिद्वार से महिला समेत गिरोह के चार लोगों को पकड़ लिया. पूछताछ में आरोपितों ने अपनी पहचान मुकेश और अरुण निवासी नरैना थाना कोतवाली बिजनौर उप्र, भोपाल निवासी मखवाड़ा थाना-कोतवाली बिजनौर हाल निवासी लाल मंदिर कॉलोनी ज्वालपुर हरिद्वार, रीता उर्फ पूजा निवासी ग्राम झाड़पुरा थाना अफजलगढ़ जिला बिजनौर के रूप में बताई. एसपी देहात ने बताया कि इनके कब्जे से अशोक कुमार से ली गई 50 हजार में से 35 हजार की रकम, मंगलसूत्र, बिछवे आदि बरामद किए गए हैं. यह गिरोह अब तक धनौरी क्षेत्र के तेलीवाला, राजस्थान, उप्र, उत्तराखंड, हरियाणा में करीब 11 लोगों को शादी का झांसा देकर लूट कर चुका है.

Crime News inextlive from Crime News Desk