-पति ने मायके में पत्नी को गुप्ती से गोद डाला

-नाबालिग पत्नी ने विवाद के बाद लगाए थे दहेज और रेप के आरोप

BAREILLY: नाबालिग प्रेमिका से लव मैरिज का दो साल में ही दर्दनाक अंत हो गया. जब रेप और दहेज के आरोप से खफा पति ने ससुराल जाकर पत्नी को गुप्ती से गोद कर मार डाला. वारदात बारादरी थाना के संजय नगर मोहल्ले की है. महिला को बचाने पहुंची बहन पर भी आरोपी ने हमला बोल दिया. परिजन महिला को लेकर हॉस्पिटल दौड़े, लेकिन इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई. जिस वक्त पति ने मायके में जाकर हमला बोला, उस वक्त महिला की मां, पिता, दादी व अन्य लोग बयान देने के लिए मॉडल टाउन चौकी में तीन घंटे से बैठे थे. गुस्साए परिजनों ने आरोपी के घर कालीबाड़ी में वित्तमंत्री के घर के सामने रोड जाम कर दिया.

तीन घंटे से चौकी में बैठे थे परिजन

उत्पीड़न व रेप केस में मॉडल टाउन चौकी इंचार्ज ने शालिनी की मां प्रीति को संडे बयान के लिए बुलाया था. प्रीति अपने पति नंद किशोर, समेत परिवार के अन्य सदस्यों के साथ चौकी में गई थीं. आरोप है कि पुलिस कई दिनों से मामले में टालमटोल कर रही थी. चौकी इंचार्ज राहुल की गिरफ्तारी के लिए रुपयों की मांग कर रहे थे. चौकी इंचार्ज ने तीन घंटे तक बैठाये रहे, लेकिन बयान नहीं लिया.

घर में घुसकर किए वार

जिस वक्त परिजन चौकी में थे, उस वक्त शालिनी मायके में थी. जब राहुल को पता चला कि शालिनी के घरवाले चौकी में गए हैं, तो वह तुरंत संजय नगर पहुंचा और यहां पर शालिनी के साथ मारपीट शुरू कर दी और उसकी कमर में गुप्ती से वार कर दिया. शालिनी की आवाज सुनकर छोटी बहन वंशिका आयी तो उसने उस पर भी वार कर दिया. उसके हाथ में चोट लगी है. दोनों की आवाज सुनकर पड़ोस में रहने वाली चाची आरती ने शोर मचाया. आरती के पति महेश दौड़कर पहुंचा, लेकिन तब तक राहुल मौका पाकर भाग गया. जिसके बाद परिजन शालिनी को डिस्ट्रिक्ट हॉस्पिटल लेकर पहुंचे लेकिन हालत गंभीर होने पर उसे प्राइवेट हॉस्पिटल लेकर गए, जहां उसकी मौत हो गई.

हत्या व हत्या के प्रयास की रिपोर्ट

परिजनों ने मॉडल टाउन चौकी इंचार्ज पर लापरवाही का आरोप लगाकर सस्पेंड करने की मांग की. करीब आधा घंटा जाम लगाने से पब्लिक को काफी परेशानी हुई. जाम की सूचना पर बारादरी के अलावा आसपास के थानों की फोर्स भी पहुंच गई. एसपी सिटी अभिनंदन सिंह मौके पर पहुंचे और कार्रवाई का आश्वासन देकर जाम खुलवाया. एसएपसी मुनिराज जी ने चौकी इंचार्ज के खिलाफ आरोपों की जांच के बाद कार्रवाई के निर्देश दिए हैं. पुलिस ने राहुल के खिलाफ हत्या और हत्या के प्रयास की धाराओं में एफआईआर दर्ज कर ली है.

--------------------------

सालभर के भीतर ही लव स्टोरी हुए डिरेल

-अनबन के बाद पत्नी नाराज होकर चली गई थी मायके

शालिनी और राहुल की लव स्टोरी का दो वर्ष में ही बुरा अंत हो गया. किसी को नहीं पता था कि इस लव स्टोरी में शालिनी को अपनी जान गंवानी पड़ेगी. शालिनी की मौत के बाद परिजनों का बुरा हाल हो रखा है. संजय नगर निवासी रिक्शा चालक नंद किशोर की बड़ी बेटी 17 वर्षीय शालिनी ने कालीबाड़ी फाल्तूनगंज निवासी टेंपो ड्राइवर से 2 अक्टूबर 2016 को लव मैरिज की थी. लव मैरिज दोनों परिजनों की रजामंदी से हुई थी. एक वर्ष तो सब कुछ ठीक ठाक रहा लेकिन उसके बाद दोनों में अनबन होने लगी.

दहेज के लिए करता था प्रताडि़त

मां प्रीति का आरोप है कि शालिनी के पति राहुल व ससुराल वालों ने दहेज में गाड़ी व नकदी के लिए मारपीट शुरू कर दी. कई बार दोनों पक्षों के लोग बैठे लेकिन बात नहीं बनी और उसके बाद शालिनी को मारपीट कर निकाल दिया गया. 27 जुलाई को मां प्रीति ने शालिनी के पति राहुल के खिलाफ रेप, देह व्यापार में धकेलने, हत्या की कोशिश करने और धमकाने जैसे गंभीर आरोप लगाते हुए बारादरी थाना में एफआईआर दर्ज कराई थी. राहुल पर प्रीति ने आरोप लगाया था कि वह गुंडा किस्म का था, उस पर रेप के केस दर्ज थे.

फोन पर बात करने का आरोप

वहीं दूसरी ओर राहुल के परिजनों ने दहेज के आरोपों से इनकार किया है. इसके अलावा उनका कहना है कि शालिनी किसी ओर से फोन पर बात करती थी, जब राहुल ने विरोध किया था तो फिर झगड़ा शुरू हो गया था. राहुल अभी फरार चल रहा है.