एक पखवारे से शहर पब्लिक झेल रही परेशानी

कैपिसटर बैंक से लगाकर जल्द दूर करेंगे प्राब्लम

GORAKHPUR: शहर में लो वोल्टेज से निजात नहीं मिल पा रहा है. बिजली स्टेशन के आसपास मोहल्लों में सप्लाई ठीक मिल रही है. लेकिन दूर दराज के मोहल्लों में एसी, कूलर तो दूर पंखे भी नहीं ठीक से चल पा रहे. बिजली अधिकारियों का कहना है कि व्यवस्था में सुधार किया गया है. ज्यादातर जगहों पर इस तरह की कोई प्रॉब्लम नहीं है. गिनीचुनी जगहों पर लो वोल्टेज की शिकायतें सामने आई थीं. उनको दूर करा दिया गया था.

तापमान चढ़ते ही घट जाती बिजली

गर्मी बढ़ने के साथ बिजली का लोड बढ़ गया है. एसी और कूलर चलाने के चक्कर में लोग स्टेबलाइजर भी लगा रहे हैं. दिन में जैसे तापमान चढ़ता है. वैसे ही बिजली के लो वोल्टेज का खेल शुरू हो जाता है. धीरे-धीरे यह नौबत आ जाती है कि तेज रफ्तार में झूम रहा पंखा रेंगना शुरू कर देता है. बिजली के लो वोल्टेज से एसी और कूलर जवाब दे जाते हैं. घरों में लगा इन्वर्टर भी ठीक से चार्ज नहीं हो पाता है. पानी का मोटर न चलने से पानी की प्रॉब्लम भी झेलनी पड़ती है. शिकायत करने पर बिजली कर्मचारी भी कोई सहयोग नहीं कर पाते. पिछले एक हफ्ते से शहर के कई मोहल्लों में प्रॉब्लम बनी हुई है.

कई मोहल्लों में लो वोल्टेज की प्रॉब्लम

बिजली उपभोक्ताताओं का कहना है कि बिजली ट्रांसमीशन सब स्टेशन के आसपास मोहल्लों में सप्लाई ठीक मिलती है. लेकिन जैसे-जैसे दूरी बढ़ती जाती है. वैसे-वैसे समस्या बढ़ती जाती है. एक पखवारे से शास्त्रीपुरम, जनप्रिय विहार कालोनी, अंधियारीबाग, लाल डिग्गी, सूबा बाजार, राजेंद्र नगर, साकेतपुरी, शेषपुर, जाफरा बाजार, इलाहीबाग, बशारतपुर, आवास विकास कालोनी, शाहपुर, पादरी बाजा सहित शहर के दो दर्जन से अधिक मोहल्लों में लोगों को लो वोल्टेज की प्रॉब्लम उठानी पड़ रही है. बिजली निगम के अधिकारियों का कहना है कि जून माह के अंत तक इस समस्या का समाधान कर लिया जाएगा. सभी चिह्नित जगहों से जुड़े सब स्टेशन पर कैपेसिटर लगाए जाएंगे.

यह हो रही परेशानी

- लो वोल्टेज से पानी के मोटर नहीं चल रहे हैं.

- लो वोल्टेज होने से एसी, कूलर भी खराब हो रहे.

- घर में लगे बिजली के अन्य उपकरण पर प्रभाव पड़ रहा है.

- सीएफएल खराब होने की शिकायतें भी बढ़ने लगी हैं.

वर्जन

बिजली उपभोक्ताओं को लो वोल्टेज से राहत देने के लिए ट्रांसमीशन उपकेंद्रों पर कैपिसटर बैंक लगाए जाएंगे. इसकी स्वीकृति मिल चुकी है. जून माह तक सभी उपकेंद्रों पर कैपिसटर लगा दिए जाएंगे. उपभोक्ता भी कैपिसिटर लगाकर अच्छी क्वालिटी की बिजली पा सकते हैं.

एके सिंह, एसई महानगरीय विद्युत वितरण मंडल