- प्लांट से गोदाम तक गैस की सप्लाई हो रही प्रभावित

BAREILLY:

सावन में कांवडि़यों की डगर में हुए रूट डायवर्जन से डोमेस्टिक गैस की किल्लत शुरू हो गई है. प्लांट से शहर तक गैस की सप्लाई प्रॉपर नहीं हो पा रही हैं, जिसके चलते गैस एजेंसियों और एलपीजी उपभोक्ताओं के सामने समस्या खड़ी हो गयी हैं. वीक में चार दिन रूट डायवर्जन होने से बैकलॉग बढ़ती जा रही हैं. इस संबंध में गैस एजेंसी संचालकों ने एसएसपी से भी शिकायत की है.

नहीं हो पा रही गैस की सप्लाई

गैस की सप्लाई सबसे फ्राइडे से मंडे तक प्रभावित रहती हैं. क्योंकि, यह चार दिन कांवडि़यों की सुरक्षा के लिए रूट डायवर्जन का होता है. पूरे बरेली में तीनों कंपनियों के 61 गैस एजेंसियां है. गोदाम पर प्लांट से रोजाना 50 से ट्रक गैस आता हैं. लेकिन चार दिन गैस शहर में नहीं आ पाती हैं. बीपीसी को परसाखेड़ा प्लांट से होने वाली गैस की सप्लाई को छोड़ दे तो बाकी इंडेन को शाहजहांपुर और एचपीसी को गाजियाबाद प्लांट से गैस की सप्लाई होती है. लेकिन रूट डायवर्जन के चलते प्लांट से गोदाम तक गैस नहीं आ पा रही है. यह समस्या पूरे सावन तक बनी रहेगी.

गोदाम हो गए हैं खाली

प्लांट से प्रॉपर गैस नहीं आने से एजेंसियों के गैस गोदाम खाली हो चले है. एजेंसियों का कहना है कि बड़े ट्रक में 450 सिलेंडर होता है. इनमें 10 कॉमर्शियल और बाकी 440 डोमेस्टिक सिलेंडर होते है. जबकि, छोटे ट्रक में 306 गैस के सिलेंडर आते है. जिनमें 6 कॉमर्शियल होते है. लेकिन, प्लांट से गैस नहीं आने से दिक्कत हो रही है. गोदाम में पहले से स्टोर गैस सिलेंडर भी खत्म हो चले है. अब तो दिन पर दिन बैकलॉग बढ़ रही है. एजेंसी संचालकों का कहना है कि सावन तक यह समस्या रहेगी. एसएसपी से मिलकर इस बीत की शिकायत की गई है. ताकि, रूट डायवर्जन के दौरान गैस के ट्रक गोदाम तक आसानी से आ सके. उन्हें डायवर्ड कर इधर-उधर न घुमाया जाए.

रूट डायवर्जन से प्लांट से गोदाम तक गैस आने में प्रॉब्लम्स आ रही है. यही स्थिति रही तो उपभोक्तों को समय पर गैस की डिलीवरी नहीं हो पाएगी.

राजेश गुप्ता, प्रोपराइटर, गैस एजेंसी