ह्यड्डठ्ठड्डद्व.ह्यद्बठ्ठद्दद्ध@द्बठ्ठद्ग3ह्ल.ष्श्र.द्बठ्ठ

छ्वन्रूस्॥श्वष्ठक्कक्त्र: रेलवे यात्रियों के लिए एक नई सुविधा लेकर आ रही है। ट्रेनों में पेंट्रीकार वेंडर्स द्वारा फूड प्रोडक्ट्स को लेकर ओवर चार्जिंग करने या ज्यादा पैसे की मांग करने की समस्या से यात्रियों को छुटकारा मिलेगा। इसके लिए सभी ट्रेनों के एसी कोचों में मेटल की स्थाई मेन्यू प्लेट लगाने की प्लानिंग की है। इसमें ट्रेन में मिलने वाले सभी फूड प्रोडक्ट के रेट भी लिखे होंगे, साथ ही मेटल प्लेट में खाने की गुणवत्ता बताने या किसी समस्या से संबंधित शिकायत के लिए टोल फ्री नंबर भी अंकित रहेगा। इसके लिए रेलवे व आईआरसीटीसी ने तैयारी पूरी कर ली है। रेलवे अधिकारियों के मुताबिक मई के बाद कोचों में मेटल की मेन्यू प्लेट लगाने का काम शुरू हो जाएगा।

फाड़ नही पाएंगे मेन्यू

रेलवे अधिकारियों के मुताबिक पैसेंजर संग ट्रेन में फूड प्रोडक्ट में होने वाली ओवर चार्जिंग पर अंकुश लगाने के लिए रेलवे ने ट्रेनों में मेन्यू लिस्ट चस्पा कराते थे, लेकिन वेंडर उसे फाड़ देते थे। इससे पैसेंजर्स को फूड प्रोडक्ट के निर्धारित रेट नहीं पता चल पाते थे, इसीलिए अब रेलवे ने कोचों में मेटल मेन्यू लिस्ट लगाने का फैसला लिया है, जिसे वे उसे फाड़ नहीं पाएंगे।

नो बिल, नो पेमेंट

आईआरसीटीसी के एजीएम देवाशीष चंद्रा ने बताया कि पैसेंजर्स के साथ होनेवाली ओवरचार्जिंग को रोकने के लिए रेलवे ने पहले भी कई नियम लागू कर रखे हैं। इनमें से एक नियम नो बिल, नो पेमेंट भी है। रेलवे बोर्ड के दिशा-निर्देश पर पेंट्रीकार मैनेजर को अपने सभी वेंडर को पीओएस मशीन लेकर चलने का आदेश दिया था। इससे पैसेंजर्स को खाने का इलेक्ट्रिक बिल मुहैया हो सके। लेकिन ज्यादातर पेंट्रीकार में ऐसा नहीं हो रहा है।

अगले महीने से काम शुरू

रेलवे अधिकारियों के मुताबिक फ‌र्स्ट फेज में पेंट्रीकार वाली ट्रेनों में मेटल की मेन्यू प्लेट व रेट लिस्ट लगाई जाएगी। इसका काम मई के बाद शुरू होगा। संभावना जताई जा रही है कि आनेवाले चार महीनों में सभी ट्रेनों में मेन्यू लिस्ट लगाई जाएगी। अधिकारियों ने बताया कि यह व्यवस्था राजधानी व शताब्दी जैसी ट्रेनों में नहीं होगी। कारण इन वीआईपी ट्रेनों में पैसेंजर्स को मिलने वाले खाने का पैसा रेलवे टिकट में ही जोड़ कर बुकिंग के दौरान ले लेती है।

रोज दर्जन भर शिकायतें

रेलवे अधिकारियों के मुताबिक चक्रधरपुर रेल मंडल में रोज एक दर्जन से अधिक शिकायतें विभिन्न ट्रेनों से ओवर चार्जिंग की आती हैं। हर केस में पैसेंजर्स का यही कहना होता है कि पेंट्रीकार वेंडर ने प्रोडक्ट में उनसे निर्धारित रेट से अधिक रेट लिए हैं। अधिकारियों के मुताबिक मेटल मेन्यू लिस्ट लग जाने बाद के बाद पैसेंजर्स की ओवरचार्जिंग की समस्या खत्म हो जाएगी।

पैसेंजर्स के साथ होनेवाली ओवर चार्जिंग को रोकने के लिए ट्रेनों के कोचों में जल्द मेटल मेन्यू लगाई जाएगी। इसमें ट्रेन में मिलनेवाले सभी फूड प्रोडक्ट के रेट भी लिखे होंगे। साथ ही मेटल प्लेट में खाने की गुणवत्ता बताने या किसी समस्या से संबंधित शिकायत के लिए टोल फ्री नंबर भी अंकित रहेगा।

-देवाशीष चंद्रा, एजीएम, आईआरसीटीसी, कोलकाता