कोलंबो (पीटीआई)। श्रीलंका के विपक्षी नेता और पूर्व प्रधानमंत्री महिंदा राजपक्षे भारत के दौरे पर आ रहे हैं। उनके कार्यालय ने इस बात की पुष्टि की है। पिछले महीने विपक्षी नेता के रूप में नियुक्त किए जाने के बाद यह राजपक्षे का पहला विदेशी दौरा होगा। उनके कार्यालय ने बताया कि वह भारत दौरे के लिए शुक्रवार को रवाना होंगे। अपने इस आधिकारिक यात्रा के दौरान राजपक्षे बंगलुरु में श्रीलंका और भारत के संबंधों पर लेक्चर देंगे। बता दें कि छह महीने के अंदर यह उनकी भारत की दूसरी यात्रा होगी। इससे पहले उन्होंने सितंबर में भारत का दौरा किया था और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात की थी।

प्रधानमंत्री पद के लिए हुआ था विवाद
गौरतलब है कि अक्टूबर के अंत में राष्ट्रपति मैत्रीपाल सिरिसेना ने प्रधानमंत्री रणिल विक्रमसिंघे को उनके पद से जबरन हटाकर राजपक्षे को उनकी जगह पर बैठा गया था। इसके बाद वहां राजनीतिक संकट शुरू गई थी, जो करीब 50 दिनों तक चला था। विक्रमसिंघे को श्रीलंका में इसके लिए खूब संघर्ष करना पड़ा था, बाद में यह मामला सुप्रीम कोर्ट तक पहुंच गया। सुप्रीम कोर्ट ने पूरे विवाद को समझने के बाद फैसला सुनाया कि जब तक इस मामले की पूरी तरह से सुनवाई न हो जाए, तब तक 73 वर्षीय राजपक्षे को प्रधानमंत्री के पद से इस्तीफा देना होगा। कोर्ट के आदेश के बाद उन्होंने प्रधानमंत्री की पद से इस्तीफा दे दिया।

श्रीलंका राजनीतिक संकट: रक्तपात के भय से लोकसभा स्पीकर आैर UN लोकतांत्रिक ढंग से संसद में हल करना चाहते हैं मामला

International News inextlive from World News Desk