ranchi@inext.co.in
RANCHI: मकर संक्रांति में पतंग उड़ाना एक उत्सव की तरह होता है. ऐसे में सिटी के कई इलाकों में पतंग की लड़ाई भी होती है. वहीं कुछ जगहों पर कॉम्पटीशन भी आयोजित किए जाते हैं. लेकिन इस बार मार्केट में सबसे ज्यादा मोदी-राहुल वाले पतंग की डिमांड रही. वहीं कार्टून पतंग में भीम, टॉम एन जेरी, नोबिता, मोटू-पतलू, स्पाइडर मैन, बैटमैन के अलावा कई अन्य कैरेंक्टर वाले पतंग की जमकर बिक्री हुई.

लटाई के साथ मांझा वाला धागा भी
पतंग उड़ाने के लिए धागे की जरूरत पड़ती है. वहीं लटाई के बिना तो पतंग उड़ाना भी मुश्किल होता है. ऐसे में बच्चों को जो मर्जी वे खरीद ले रहे है. लेकिन सबसे ज्यादा डिमांड मांझा वाले धागे की रही. जिसकी कीमत लटाई के साथ 250-300 के बीच थी. वहीं उसमें धागे की लंबाई भी काफी थी. अब दूसरों की पतंग से कॉम्पटीशन होगा तो कोई पीछे कहां रहना चाहता है. ऐसे में लोगों ने पतंग जो भी खरीदी लेकिन धागा तो मांझे वाला ही लेकर गए.

दो से दो सौ रुपए की है पतंग
तालीब पतंग हाउस के ओनर गुड्डू ने बताया कि हमारे यहां 2 रुपए से लेकर 200 रुपए तक की पतंग अवेलेवल है. साथ ही बताया कि पॉलीटिकल लीडरों वाली पतंग उनकी दुकान में मात्र पांच रुपए में अवेलेवल है. लेकिन इस बार भी मोदी-राहुल को लोग पसंद कर रहे है. वहीं चाइनीज पतंग को भी खूब पसंद किया जा रहा है.

खूब बिके तिलकुट, पापड़ी का बाजार भी चढ़ा

खोआ, गुड़ और चीनी वाले तिलकुट की लोगों ने की खरीदारी
मकर संक्रांति का त्योहार हो और तिलकुट की बात न हो ऐसा हो नहीं सकता. हर तबके के लोगों के लिए मकर संक्रांति में तिलकुट एक मिठाई से बढ़कर है. ऐसे में कुछ-कुछ दूरी पर ही गली-मोहल्लों में तिलकुट की दुकानें सजी गई हैं. जहां पर खोआ, गुड़ और चीनी वाले तिलकुट की अलग-अलग वेरायटी लोगों को ललचा रही है. यही वजह है कि रविवार को लोगों ने जमकर तिलकुट की खरीदारी की. इसके अलावा तिल से बने लड्डू और पापड़ी की भी काफी डिमांड रही. वहीं खोए का तिलकुट बनाने में काफी सावधानी बरतनी पड़ती है. ऐसे में लोग खोए के तिलकुट के लिए इंतजार करते दिखे.

तिलकुट रेट(रुपए प्रति किलो)

गुड़ तिलकुट 280-300

चीनी तिलकुट 280-300

खोआ तिलकुट 400-450

तिल पापड़ी 300

सादा तिल का लड्डू 300