कंपनी का कहना है कि गलत है सारे आरोप
हाल ही में एक कस्‍टमर ने फ्रीडम 251 मोबाइल को बनाने वाली कंपनी रिंगिंग बेल्‍स पर फर्जीवाड़े का आरोप लगाया है। कस्‍टमर का कहना है कि ये कंपनी पूरी तरह से फर्जी है और ये बस लोगों से पैसे एठना चाहती है। उसका ये भी कहना है कि कंपनी उसका पैसा नहीं चुका रही है। वहीं रिंगिंग बेल्‍स का कहना है कि ये सारे आरोप गलत है। कंपनी किसी भी तरह का फर्जीवाड़ा नहीं कर रही हैं। कंपनी के प्रेसीडेंट अशोक का कहना है कि लोग मदद के लिए कस्‍टमर केयर से कनेक्‍ट नहीं कर पाए और इसकी उनको हजारों शिकायतें मिली हैं। उनका कहना था कि इस काम को उन्‍होंने साइफ्यूचर बीपीओ को आउटसोर्स किया था, पर वो कस्‍टमर्स की कॉल्‍स का ट्रैफिक हैंडल नहीं कर पाई जिससे कस्‍टमर्स को परेशानी का सामना करना पड़ा।

संशित थे रिंगिंग बेल्‍स के बिजनेस मॉडल को लेकर
बीपीओ साइफ्यूचर के सीईओ अनुज बैराठी का कहना है कि रिंगिंग बेल्‍स के आरोप निराधार है और ये सारे आरोप गलत है। उन्‍होंने कहा कि उनको रिंगिंग बेल्‍स पर शुरूआत से संशय था। इनका बिजनेस मॉडल एकदम हवाहवाई था। लॉचिंग ईवेंट पर बड़े नेताओं के नाम बताए जाने पर ही उन्‍होंने इस प्रॉजेक्‍ट को लिया था। अनुज ने बताया की साइफ्यूचर ने सारे कॉल्‍स अटेंड किए थे और रिंगिंग बेल्‍स भी हमारी सर्विस से संतुष्‍ट थी। लेकिन जब हमने कंपनी से पेमेंट मांगा तो वो झूठे आरोप लगाने लगी और अब वो उनका कॉल भी नहीं उठा रहे हैं। उनका कहना है कि कंपनी का ये फर्जीवाड़ा ही है और इसके लिए वो कानूनी कार्यवाही करने की तैयारी कर रहे हैं।

Business News inextlive from Business News Desk