जेल से बाहर निकले अनवर
कुआलालंपुर (एपी)। भ्रष्टाचार और अप्राकृतिक यौनाचार के मामले में दोषी ठहराए गए मलेशिया के पूर्व उप प्रधानमंत्री और रिफार्मिस्ट आइकॉन अनवर इब्राहिम बुधवार को क्षमादान के बाद जेल से रिहा कर दिए गए। अपने घर पर मीडिया से बातचीत करते हुए उन्होंने कहा, 'अब मलेशिया के लिए एक नई शुरुआत होने वाली है।' अनवर ने कहा कि वे मलेशियाई लोगों के आभारी हैं। उन्होंने आगे यह भी कहा, 'चुनाव परिणाम परिवर्तन की मांग थी और यह नई सरकार की ज़िम्मेदारी है कि वे जनादेश को सम्मानित करें।'

बन सकते हैं अगले प्रधानमंत्री
फिलहाल अनवर की सजा को माफी मिलना एक राजनीतिक कदम से जोड़ा जा रहा है। क्षमादान मिलने के बाद अब राष्ट्रीय राजनीति में उनकी वापसी के रास्ते भी खुल गये हैं क्योंकि ऐसा माना जा रहा है कि प्रधानमंत्री महातिर मोहम्मद के बाद वही देश के प्रधानमंत्री बनने वाले हैं। प्रधानमंत्री चुनाव के दौरान अनवर के ना होने के बावजूद महातिर ने बहुत अच्छे से लोकतांत्रिक लहर की अगुवाई की और लंबे समय से सत्ता में बने रहे बारिसन नेशनल (बीएन) गठबंधन को सत्ता से हटाया। महातिर ने हाल ही में एक बयान जारी करते हुए कहा कि वे दो साल तक ही सरकार चला सकते हैं। इससे यही संकेत जाता है कि आगे देश की बागडोर अनवर के हाथों में ही जानी है।

सबसे बुजुर्ग प्रधानमंत्री
गौरतलब है कि पहले भी प्रधानमंत्री पद पर रहे महातिर मोहम्मद ने मलेशिया के आम चुनावों में ऐतिहासिक जीत हासिल कर देश के सातवें प्रधानमंत्री के रूप में शपथ लिया। इसी के साथ महातिर मलेशिया में इस चुनाव को जीतकर दुनिया के सबसे बुजुर्ग प्रधानमंत्री बन गए। बता दें कि 92 साल के महातिर ने बारिसन नेशनल (बीएन) गठबंधन को चुनावों में करारी शिकस्त दी। बता दें कि ये पार्टी पिछले 60 सालों से सत्ता में बनी हुई थी।

मलेशिया के पूर्व पीएम नजीब रजाक पर कसा शिकंजा, नहीं जा सकेंगे देश से बाहर

मलेशिया चुनाव जीतकर दुनिया के सबसे बुजुर्ग प्रधानमंत्री बने महातिर

International News inextlive from World News Desk