- यात्री शेड में मिला शव, पुलिस ने ठंड से मौत माना

- मृतक को भिखारी बताते हुए करा दिया अंतिम संस्कार

Kharkhoda : हापुड़ रोड पर बिजौली स्थित बस स्टैंड के यात्री शेड में रविवार सुबह संदिग्ध परिस्थितियों में एक शव मिलने से सनसनी फैल गई. सूचना पर पहुंची पुलिस ने इसे ठंड से मौत बताया. साथ ही यह भी कहा कि मृतक भिखारी था. आननफानन में बिना पोस्टमार्टम कराए हिंदू रीति-रिवाज से उसका अंतिम संस्कार भी करा दिया.

अंतिम संस्कार कर दिया

बिजौली स्थित बस स्टैंड पर बने यात्री शेड में रविवार सुबह ग्रामीणों ने एक व्यक्ति (भ्भ्) का शव देखा. पुलिस ने इसे भिखारी बताया और कहा कि इसकी मौत ठंड की वजह से हुई है. शेड के पास स्थित ढाबे के स्वामी नीरज व ग्राम प्रधान प्रदीप त्यागी की देखरेख में शव का श्मशान घाट पर अंतिम संस्कार कर दिया गया. हालांकि हत्या कर शव फेंकने की भी चर्चा रही, लेकिन एसओ मनोज कुमार का कहना है इस व्यक्ति को एक सप्ताह से देखा जा रहा था और ढाबा स्वामी व अन्य से खाना मांग कर खा रहा था.

पुलिस की भूमिका पर उठे सवाल

खरखौदा : नियमानुसार पुलिस को शव की शिनाख्त के लिए 7ख् घंटे रखना चाहिए था. पोस्टमार्टम होने से हत्या व ठंड से मौत होना स्पष्ट होता. फिर बिना मेडिकल विशेषज्ञ राय के कैसे साबित कर दिया की वह हिंदू ही था. मृतक मुस्लिम भी हो सकता था. यह स्पष्ट हुए बिना शव का हिन्दू रीति-रिवाज से अंतिम संस्कार कैसे कर दिया गया. उल्लेखनीय है कि ठंड से जिले में एक भी मौत होने पर शासन ने संबंधित जिले के उच्चाधिकारियों पर कड़ी कार्रवाई का आदेश कुछ दिन पूर्व जारी किया था. इन सवालों का एसओ मनोज संतोषजनक जवाब नहीं दे सके. सिर्फ शव के हाथ में बंधे एक धागे को ¨हदू होने की पहचान बताकर अंतिम संस्कार की बात कही.