- पारिवारिक विवाद में उजड़ गया पांच लोगों का परिवार

- पलंग पर मृत पड़े थे तीन बच्चे, आंगन में पत्नी की लाश, फंदे से झूल रहा था पति का शव

PATNA/Lakhisarai: माणिकपुर ओपी के लक्ष्मीपुर गांव में संडे की रात को एक व्यक्ति ने अपने तीन मासूम बच्चों और पत्‍‌नी की हत्या करने के बाद खुद फांसी लगाकर खुदकशी कर ली. सोमवार की सुबह घर में पांच लोगों की लाश मिलने पर पूरे शहर में यह घटना जंगल की आग की तरह फैल गई. पुलिस अधिकारियों ने घटनास्थल पर पहुंचकर मामले की जांच-पड़ताल की. घटना के कारण आपसी विवाद बताया जा रहा है.

गला दबाकर की हत्या

रंजीत महतो के पुत्र पंकज महतो (35) ने पहले तीन मासूम बच्चों प्रियांशु कुमारी (8), ¨प्रस कुमार (6) एवं विक्की कुमार (4) व पत्नी अर्चना देवी (30) की गला दबाकर कर हत्या कर दी और उसके बाद फांसी लगाकर अपनी भी जान दे दी. इस घटना का पता अर्चना की छोटी बहन काजल (15 वर्ष) के वहां पहुंचने पर चला. वह भी इन लोगों के साथ ही रहती थी. घटना की रात वह पंकज की मां एवं अन्य परिजनों के साथ दूसरे मकान में सोई थी. सुबह सोकर उठने के बाद जब वह अपनी दीदी के घर आई और दरवाजा नहीं खुला तो उसने दीवार फांद कर घर के अंदर प्रवेश किया.

आंगन में दिखा शव

घर के आंगन में पानी जमा करने के लिए खोदे गए गड्ढे में उसे अर्चना का शव पड़ा दिखा. कमरे के अंदर पलंग पर तीनों बच्चे मृत पड़े हुए थे. पलंग के बगल में फंदे से लगा पंकज का शव ट्रंक के सहारे झूल रहा था. लखीसराय के एसडीपीओ मनीष कुमार ने प्रथम ²ष्टया घटना के पीछे पति और पत्नी के बीच विवाद होना बताया. छह दिन पहले ही पंकज घर आया था. वह रोहतक में रहकर मजदूरी करता था.