- पुलिस ने आरोपी को लिया हिरासत में

- 10 वर्ष से चल रही थी पति-पत्नी के बीच अनबन

देहरादून, थाना कोतवाली के लक्खीबाग इलाके में एक व्यक्ति ने अपनी पत्नी का गला रेत उसे मौत के घाट उतार दिया. वारदात से पूरे इलाके में सनसनी फैल गई. बताया जा रहा है कि दोनों के बीच लंबे समय से अनबन थी और दो वर्ष से वे आपस में बात तक नहीं कर रहे थे. आरोपी पर सात लाख रुपए का कर्जा था, लोग कर्जा वसूलने के लिए बार-बार तकाजा करते थे, जिसे लेकर पत्नी ने आपत्ति जताई तो पति ने उसका गला रेत दिया. आरोपी को पत्नी के चरित्र पर भी शक था.

गला रेता, हाथ की नस काटी

घटनाक्रम के अनुसार आरोपी जयप्रकाश पत्नी प्रेमलता उर्फ मंजू के व अपने दो बच्चों के साथ लकखीबाग में रहता है. जयप्रकाश शाम के वक्त मसूरी बस अड्डे पर अंडे का ठेला लगाकर परिवार का खर्च चलाता है. इसके साथ ही वह प्रॉपर्टी डीलिंग का भी करता है. इस कारोबार में उस पर सात लाख रुपए तक कर्ज चढ़ गया. शनिवार को कर्ज वसूलने कुछ लोग उसके घर आए. इस बात पर जयप्रकाश की पत्नी प्रेमलता ने आपत्ति जताई और दोनों के बीच बहस हो गई. जयप्रकाश ने अपना आपा खो दिया और प्रेमलता का गला रेत दिया. उसने उसके हाथ की नस भी काट दी और मौत के घाट उतार दिया. वारदात दोपहर करीब एक बजे की है.

वारदात के वक्त बड़ा बेटा था घर में

जयप्रकाश व मृतका प्रेमलता के दो बेटे हैं. बड़ा बेटा तरुण मूक बधिर है. दूसरा बेटा निखिल है, जो 11वीं में पढ़ता है. जयप्रकाश ने जिस वक्त वारदात को अंजाम दिया उनका बड़ा बेटा घर पर ही था, लेकिन वह अलग कमरे में था. जब उसने मां को जमीन पर मृत देखा तो आसपास के लोगों को इस बारे में बताया. घर में लोगों की भीड़ जुट गई और पुलिस को मामले की सूचना दी गई. इससे पहले ही जयप्रकाश भाग चुका था. पुलिस मौके पर पहुंची और पूरी तफ्तीश के बाद आरोपी जयप्रकाश को भी एक गली में घूमते हुए गिरफ्तार कर लिया. पिता द्वारा मां की हत्या किए जाने से दोनों बच्चे सदमे में हैं.

दंपत्ति के बीच 10 वर्ष से थी अनबन

आरोपी से पूछताछ के बाद पुलिस ने बताया कि पति-पत्नी के बीच करीब 10 वर्ष से अनबन चल रही थी, वे एक ही घर में रहते थे, लेकिन अलग-अलग. बच्चे पिता के साथ रहते थे और मां अलग रहती थी. सिलाई, बुनाई करके वह अपना गुजारा करती थी. पति द्वारा उसे कोई मदद नहीं दी जाती थी और पिछले 2 वर्ष से उनके बीच बातचीत भी बंद थी. लेकिन, जब कर्जा वसूलने के लिए लोग तकाजा करते थे तो दोनों के बीच अक्सर बहस होती थी.

बच्चों को मां से कर दिया था दूर

पुलिस ने बताया कि जयप्रकाश ने अपने दोनों बेटों को भी मां से अलग कर दिया था. वह पत्नी के चरित्र पर शक करता था और बच्चों को भी बताता था कि उनकी मां के किसी व्यक्ति से अवैध संबंध हैं. बच्चे भी मां से बात नहीं करते थे. लेकिन, पिता द्वारा मां की हत्या के बाद दोनों सदमे में हैं.

फॉरेंसिक टीम ने जुटाए साक्ष्य

घटना की सूचना मिलते ही पुलिस फोर्स के साथ फॉरेंसिक टीम भी घटना स्थल पर पहुंची. फॉरेंसिक टीम ने डेड बॉडी का जायजा लिया और मौके से अहम साक्ष्य भी जुटाए.

------------------

आरोपी को हिरासत में लिया गया है. पूछताछ जारी है. आज कोर्ट में पेश किया जाएगा.

बीबीडी जुयाल, कोतवाल