-शाहपुर के आवास विकास कॉलोनी की घटना

-किराए के कमरे में रहने वाले युवक की तलाश

Gorakhpur@inext.co.in
GORAKHPUR: शाहपुर के आवास विकास कॉलोनी में किराए के मकान में मार्केटिंग कंपनी के ट्रेनर की हत्या कर दी गई. शुक्रवार सुबह नौ बजे पब्लिक की सूचना पर पुलिस पहुंची. ट्रेनर के बगल के कमरे में रहने वाला एक युवक लापता है. रुपए के लेनदेन और नाजायज रिश्तों के बीच मर्डर की गुत्थी सुलझाने की कोशिश में पुलिस लगी है. पुलिस का कहना है कि तीन साल से किराए के मकान में मार्केटिंग कंपनी की ट्रेनिंग चल रही थी. एक जूनियर संग अक्सर मनोहर का विवाद होता था.

किराए के मकान में चल रहा था ट्रेनिंग सेंटर

आवास विकास कॉलोनी निवासी दीप कुमार गुप्ता के मकान में राजस्थान के झालाबार, शांगरिया निवासी बजरंगी सिंह ने किराए पर कमरा लिया था. मार्केटिंग कंपनी के ट्रेनर बजरंगी ने ट्रेनिंग के लिए तीन अन्य कमरे भी लिए थे. एक कमरे में बिहार की एक युवती अकेली रहती थी. जबकि, दो अन्य कमरों में उनके स्टूडेंट रहते थे. तीन मंजिला मकान में कई अन्य किराएदार भी रहते हैं. शुक्रवार की कमरे में फर्श पर गिरे बजरंगी को देखकर लोगों ने पुलिस को सूचना दी. पुलिस पहुंची तो उसे मेडिकल कालेज ले गई. लेकिन डॉक्टरों ने उसे डेड बताया. बजरंगी के परिजनों को सूचना देकर पुलिस जांच पड़ताल करने लगी.

युवक के लापता होने से बढ़ा संदेह
पुलिस की छानबीन में सामने आया कि तीन साल पहले मनोहर सिंह गोरखपुर आए थे. शाहपुर में किराए पर कमरा लेकर वह मार्केटिंग कंपनियों से संबंधित ट्रेनिंग देते थे. पब्लिक यह जानती थी कि जॉब करने के लिए स्टूडेंट्स को ट्रेंड किया जा रहा है. इसलिए किसी कोई उनकी दिनचर्या से मतलब नहीं रखता था. शुक्रवार सुबह कुछ सहयोगी पहुंचे. फर्श पर पड़ी डेड बॉडी देखकर उन लोगों ने शोर मचाया. पहले चर्चा हुई कि मनोहर सिंह ने सुसाइड कर लिया. लेकिन उनके बदन पर चोट होने से मर्डर की आशंका बढ़ गई. ट्रेनिंग के लिए कमरे में ठहरा एक युवक भी लापता है. मामले को संदिग्ध मानकर पुलिस उसकी तलाश कर रही है.

संस्था में काम करने वाला एक युवक लापता है. उसकी तलाश चल रही है. उसके सामने आने पर हकीकत सामने आ सकेगी. फिलहाल, कई बिंदुओं पर जांच पड़ताल की जा रही है.
प्रवीण कुमार सिंह, सीओ गोरखनाथ