कंसास (एपी)। अमेरिका के कंसास शहर में स्थित एक बार में पिछले साल एक पूर्व अमेरिकी नौसैनिक ने घृणित अपराध को अंजाम देते हुए दो भारतीयों को गोली मार दी थी। इस हमले के बाद एक भारतीय की मौत हो गई जबकि दूसरा घायल हो गया। इस मामले के आरोपी एडम पुरिंटन को अमेरिकी अदालत ने उम्र कैद की सजा सुनाई है।

देश से निकलने की बात
पुलिस रिपोर्ट के मुताबिक 22 फरवरी, 2017 की रात श्रीनिवास कुचिभोतला और उनके दोस्त आलोक मदसानी ओलाथे के ऑस्टिन बार एंड ग्रिल बार में थे। तभी पूर्व अमेरिकी नौसैनिक एडम पुरिंटन से उनका विवाद हो गया। इसके बाद एडम दोनों पर नस्ली टिप्पणी करने लगा, उसने दोनों को आतंकी कहा और कहा कि मेरे देश से निकल जाओ। तुम मेरे देश में क्यों आए हो? बहस के थोड़ी बाद एडम ने फायरिंग शुरू कर दी, जिसमें श्रीनिवास की मौत हो गई। श्रीनिवास को गोली मारने के बाद एडम जब वहां से भागने लगा तो आलोक और एक अन्य व्यक्ति ने उसका पीछा किया। इसके बाद उसने उन दोनों पर भी गोलियां चला दी, जिसमें वे गंभीर रूप से जख्म हो गए।

एक मामले में 78 साल की जेल
बता दें कि एडम पुरिंटन के खिलाफ घृणित अपराध के तीन मामले दर्ज हैं, जिसमें से एक में उसे लगभग 78 साल जेल की सजा सुनाई गई है और साथ ही वो 100 साल के बाद तक पेरोल के लिए योग्य नहीं होगा। इसके बाद दूसरे में उसे उम्र कैद की सजा हुई है। बता दें कि हैदराबाद के रहने वाले सॉफ्टवेयर इंजीनियर श्रीनिवास कुचिभोतला ओलाथे में जीपीएस बनाने वाली कंपनी गार्मिन के एविएशन विंग में काम करते थे।

यूएस में भारतीय इंजीनियर श्रीनिवास के हत्‍यारे को उम्र कैद की सजा

ईरान का दावा, उनके राष्ट्रपति के साथ बैठक के लिए डोनाल्ड ट्रंप ने आठ बार किया अनुरोध

International News inextlive from World News Desk