वनीला के बाद अब मैंगो फ्लेवर में पहुंची एल्बेंडाजोल

1105629 बच्चों को दी जाएगी 20 अगस्त को दवा

Meerut. पेट के कीड़ों पर वार करने के लिए इस बार स्वास्थ्य विभाग बच्चों को दो फ्लेवर्स में एल्बेंडाजोल टेबलेट प्रोवाइड कराएगा. जिसमें पहली बार बच्चों को दवाई में मैंगो का स्वाद मिलेगा, जबकि इससे पहले बच्चों को सिर्फ वनीला फ्लेवर दिया जा रहा था. 20 अगस्त को मेरठ में सभी बच्चों को एल्बेंडाजोल की गोलियां दी जाएंगी.

मुफ्त मिलेगी दवा

राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के तहत स्वास्थ्य विभाग की ओर से सभी बच्चों को एल्बेंडाजोल की गोली फ्री दी जाएगी. एनडीडी के नोडल इंचार्ज डॉ. सुधीर के मुताबिक टेबलेट को चबाकर खाना होता है लेकिन कड़वी होने की वजह से बच्चे इसे खाने से घबराते थे. कई बार बच्चे दवाई खाने से ही मना कर देते हैं. इस बार वनीला और मैंगो फ्लेवर की गोली बच्चे आसानी से खा लेंगे.

बढ़ जाता है कुपोषण

पेट में कीड़े होने की वजह से बच्चे अक्सर कुपोषण के शिकार हो जाते हैं. जिसकी वजह से बच्चों में कमजोरी, खून की कमी, दस्त, पेट दर्द, थकावट जैसी समस्या होने लगती हैं. ऐसे में बच्चों को हर 6 महीने में यह गोली देनी जरूरी हो जाती है.

यह है खास

1105629 बच्चों को दी जाएगी दवा.

20 अगस्त को चलेगा मेरठ में अभियान.

3200 स्कूलों में चलेगा अभियान, जिसमें 150 निजी स्कूल, 406 सरकारी स्कूल, 419 प्राइमरी स्कूल, 889 बेसिक स्कूल व अन्य संस्थान शामिल होंगे.

19 वर्ष तक के बच्चों को खिलाई जाएगी एल्बेंडाजोल टेबलेट.

1-3 साल के बच्चों को चूरा-चूरा कर दी जाएगी आधी टेबलेट.

3 से 19 साल के बच्चों को पूरी टेबलेट दी जाएगी.

बच्चों का स्वाद खराब न हो इसके लिए इस बार मैंगो फ्लेवर की दवाइयां भी मंगवाई गई हैं. यह दवाई बच्चों को पसंद आएगी और दवाई खाने में आनाकानी भी नहीं करेंगे.

डॉ. राजकुमार, सीएमओ, मेरठ