योजना

एक लाख लोगों ने कराया था पंजीकरण

समाजवादी पेंशन योजना में 13,277 लोग निरक्षर

- साक्षरता अभियान के तहत बेसिक शिक्षा विभाग ने कराया सर्वे

- 500 रुपये प्रतिमाह मिलती है समाजवादी पेंशन

आई एक्सक्लूसिव

Meerut . समाजवादी पेंशन योजना में 13 हजार 277 लोग निरक्षर पाए गए. साक्षरता मिशन के तहत जनपद में कराए गए सर्वे में यह मामला सामने आया है. समाजवादी पेंशन के लिए पात्रता की श्रेणी में आने वाले एक लाख लोगों का पंजीकरण कर परीक्षा कराई गई थी, जिसमें से 40 हजार लोगों ने परीक्षा छोड़ दी.

साक्षर होने पर बढ़ेंगे 50 रुपये

प्रदेश सरकार समाजवादी पेंशन में एक शर्त लगा दी है. सरकार ने कहा कि जो साक्षर होगा उसको पेंशन 50 रुपये प्रति माह बढ़ा दी जाएगी. बावजूद इसके लोग साक्षर होने के लिए तैयार नहीं है. क्योंकि लोगों को साक्षर करने के लिए साक्षरता अभियान के तहत बेसिक शिक्षा विभाग ने अभियान भी चलाया था. इसके तहत यह परीक्षा कराई गई थी.

55 हजार पेंशन धारक

जनपद में 55 हजार समाजवादी पेंशन धारक हैं. 500 रुपए प्रतिमाह के हिसाब से पात्रों के खातों में पेंशन पहुंच जाती है. हर साल इनका सत्यापन भी कराया जाता है. उसके बाद शासन को सूची भेजी जाती है. शासन द्वारा स्वीकृति होने पर ही पेंशन को सीधे खातों में भेजा जाता है.

ये है अर्हता

- समाजवादी पेंशन उसे ही मिलेगी जिसके घर में 6 से 14 वर्ष की आयु के बच्चे नियमित रूप से स्कूल जाते हों

- स्कूल में बच्चों की उपस्थिति का प्रतिशत 70 होना अनिवार्य हो

- 15 वर्ष से अधिक उम्र को जो भी सदस्य है और व साक्षर नहीं है. तो उसको गांव अथवा निकाय में चलने वाले साक्षरता मिशन के कार्यक्रम में जाना अनिवार्य होगा

- पांच वर्ष से कम उम्र के बच्चे का नियमित टीकाकरण कराना अनिवार्य

योजना का शुभारंभ- फरवरी 2014

जनपद में लाभार्थी- 55 हजार

साक्षरता अभियान के तहत जनपद में समाजवादी पेंशन के लिए साक्षरता सर्वे कराया गया था. सर्वे में 13 हजार 277 लोग निरक्षर मिले हैं. वहीं साक्षरता अभियान कार्यक्रम में भाग लेने वाले एक लाख लोगों की परीक्षा कराई गई थी. जिसमें केवल 60 हजार लोगों ने ही परीक्षा दी. 40 हजार ने परीक्षा छोड़ दी.

मोहम्मद इकबाल बेसिक शिक्षा अधिकारी