- अभी भी शहर में कई स्थानों पर लीकेज हो रही है पाइप लाइन

- जलकल के अफसर तीन महीनों में भी नहीं कर पाए ई-टेंडर

आगरा। शहर में जलकल की पाइपलाइन की लीकेज का जाल बिछा हुआ है, मेन राइजिंग पाइपलाइन की लीकेज से आगराइट्स का जलापूर्ति न होने से हाल-बेहाल है। पिछले तीन महीने से जलकल विभाग लीकेज पाइपलाइनों के दुरुस्तीकरण को ई-टेंडर तक नहीं कर पाएं हैं। यही कारण हैं, कि शहर में पर्याप्त रुप से जलापूर्ति नहीं हो पा रही है।

इन स्थानों की लीकेज बढ़ा रही पेयजल संकट

शहर में ऐसे दर्जनों स्थान हैं, जहां बड़ी लीकेज शहर की पेयजल आपूर्ति का संकट बढ़ा रही है। पिछले चार महीनों में जलकल के अफसर न तो लीकेज पाइपलाइन को न तो दुरुस्त कर सके हैं, न ही अभी ई-टेंडर जारी हो सके हैं। अभी इन पाइपलाइन की मरम्मत का प्लान तैयार नहीं कर पाए हैं।

बोदला चौराहे पर कछुआ गति से चल रहा काम

बोदला चौराहे पर लीकेज पाइपलाइन का काम कछुआ गति से चल रहा है। लीकेज पाइपलाइन से पानी का बहाव बढ़ता ही जा रहा है। जलकल के अफसरों द्वारा न तो लीकेज को बंद करने का काम किया है। न ही काम में तेजी लायी जा रही है। 3 दिनों के बाद स्थिति जस की तस है। मंगलवार को जेसीबी से कुछ हिस्से की खुदाई अवश्य की गई। इसके अलावा कोई काम नहीं किया जा सका है। इस बारे में जलकल के जीएम आरएस यादव ने बताया कि काम चल रहा है। पाइपलाइन को नाले से शिफ्ट किया जाएगा। कार्य कोई छोटा नहीं है। हम लगातार मॉनीटरिंग कर रहे हैं। हमने रात को भी निरीक्षण किया था। वहीं दूसरी ओर पाइपलाइन में लीकेज बढ़ने से नलों में प्रेशर कम हो गया है। इसके चलते लोगों को पेयजल संकट से जूझना पड़ रहा है।

सिकंदरा जल शोधन क्षेत्र से आपूर्ति

नरीपुरा क्षेत्र: नरीपुरा, अजीत नगर, बारह खंबा, मुस्तफा क्वार्टर, सोहल्ला आदि क्षेत्र में पेयजल वितरण के लिए कोई इंफ्रास्ट्रक्चर उपलब्ध नहीं है।

लोहामंडी: लोहामंडी के राजनगर, अशोक नगर, कंस गेट, अहीरपाड़ा घास की मंडी में गंगाजल वितरण के लिए कोई इंफ्रास्ट्रक्चर उपलब्ध नहीं है।

शहर में नौ स्थानों पर लीकेज बढ़ा रही दिक्कत

- मदिया कटरा पर 1400 एमएम की पाइपलाइन में लीकेज

- पीपल मंडी में पाइपलाइन में लीकेज होने के कारण गंदा पानी आ रहा है।

- बोदला चौराहे पर 1200 एमएम की पाइप लाइन लीकेज है पानी नाले में बह रहा है।

- सिकंदरा स्मारक के पीछे पाइपलाइन में लीकेज

- भावना स्टेट के पीछे लाइन में लीकेज

- गौरीकुंज बाईपुर रोड गंगोत्री बिहार में पाइपलाइन में लीकेज

- हलवाई की बगीची में पाइपलाइन में लीकेज

नोट: शहर में ऐसे 9 स्थान है, जहां पाइपलाइन लीकेज कर रही हैं। ऐसा पानी का प्रेशर ज्यादा होने के कारण हो रहा है। चूकिं शहर में 1300 किमी। के दायरे में पानी की पाइप लाइन को नेटवर्क फैला हुआ है। ये पाइपलाइन बहुत पुरानी हो चुकी हैं। इसके चलते ये पानी का प्रेशर नहीं झेल पा रही हैं। बोदला चौराहा स्थित 1200 एमएम की पाइपलाइन में सिकंदरा स्थित एमबीबीआर प्लांट से पानी का प्रेशर बढ़ाया गया तो लाइन फट गई।