JAMSHEDPUR: मानगो नोटिफाइड एरिया कमिटी (एमएनएसी) ने अवैध होल्डिंग टैक्स वसूली करने वाले रैकेट का भंडाफोड़ किया है. इस मामले में एमएनएसी के नगर प्रबंधक और होल्डिंग टैक्स की वसूली कर रही एजेंसी स्पैरो शॉपटेक के बाराद्वारी निवासी अर्का मंडल ने मानगो थाने में एफआइआर दर्ज करा दी है. एफआइआर दर्ज होने के बाद मानगो पुलिस ने रैकेट के सरगना शहनवाज अंसारी उर्फ बंटी को गिरफ्तार कर लिया है.

लाखों का लगाया चूना

मानगो में बड़े पैमाने पर होल्डिंग टैक्स की वसूली चल रही है. रैकेट के सदस्य फर्जी रसीद छपवा कर लोगों का होल्डिंग टैक्स ले रहे हैं. ये रैकेट अनुमान के अनुसार सरकार को लाखों रुपये का चूना लगा चुका है. आजाद नगर रोड नंबर एक के रहने वाले मो. इलियास अंसारी ने हफ्ता भर पहले मानगो अक्षेस के विशेष अधिकारी से फर्जी तौर से आजाद नगर के रोड नंबर सात निवासी शहनवाज अंसारी उर्फ बंटी द्वारा 8300 रुपये होल्डिंग टैक्स वसूल किए जाने की शिकायत की थी. विशेष अधिकारी राजेंद्र प्रसाद गुप्ता ने जब इसकी जांच की तो पता चला कि मो. इलियास का होल्डिंग टैक्स जमा ही नहीं है. जो रसीद इलियास को दी गई है उसी सैफ नंबर पर ओल्ड पुरुलिया रोड नंबर 12 के रहने वाले अब्दुल कादिर का होल्डिंग टैक्स जमा हुआ है. रसीद फर्जी है. जांच में सामने आया है कि शहनवाज के साथ इस काम में कई लोग जुड़े हुए हैं.

एमएनएसी कर्मियों पर भी शक

होल्डिंग टैक्स के फर्जीवाड़े में पुलिस की शक की सूई एमएनएसी के होल्डिंग टैक्स वसूली से जुड़े कर्मचारियों की तरफ भी घूम रही है. इस काम में अक्षेस या स्पैरो कंपनी के किसी कर्मचारी की भी मिलीभगत है. मामले की जांच कर रही पुलिस इस बिंदु पर भी तफ्तीश कर रही है कि होल्डिंग टैक्स की जो फर्जी रसीद छपवाई गई है, हूबहू उसी सैफ नंबर की रसीद मानगो अक्षेस भी काट रहा है. वरना, बाहरी शख्स को कैसे पता चला कि अक्षेस द्वारा काटी जा रही रसीद का क्या सैफ नंबर है और उसने उसी नंबरों की रसीद छपवाई है जो अक्षेस में काटी जा रही है. जबकि, सैफ नंबर 18 अंकों का होता है.

होल्डिंग टैक्स के फर्जीवाड़े में जो भी हो बख्शा नहीं जाएगा. लोगों को चाहिए कि वो अक्षेस के दफ्तर में आकर काउंटर पर ही स्पैरो कर्मी को ही होल्डिंग टैक्स दें.

-राजेंद्र प्रसाद गुप्ता, स्पेशल ऑफिसर, एमएनएसी