-एसपी देहात की रिपोर्ट पर हुई कार्रवाई

-एसएसपी आफिस पर ग्रामीणों ने किया था हंगामा

Meerut : गो तस्करी के झूठे आरोप में जेल भेजे गए ट्रांसपोर्टर की जेल में मौत के बाद एसएसपी ने मवाना इंस्पेक्टर समेत दरोगा व एक सिपाही को सस्पेंड कर दिया गया. इसके साथ उसके खिलाफ जांच भी बैठा दी गई है. एसएसपी का कहना है कि मवाना इंस्पेक्टर को सस्पेंड कर दिया गया है.

यह था मामला

मवाना पुलिस ने 21 अप्रैल डोरली निवासी ट्रांसपोर्टर नरेन्द्र नागर की गाड़ी सीज कर दी थी. वहीं गाड़ी से दो गोवंश मुक्त कराते हुए नरेन्द्र को गो तस्करी के आरोप में जेल भेज दिया. मंगलवार को जिला कारागार में नरेन्द्र की मौत हो गई थी. परिजनों का आरोप था कि पुलिस ने भाड़ा लेकर जा रहे नरेन्द्र को फर्जी मामले में फंसाकर जेल भेज दिया.

परिजनों का हंगामा

मृतक नरेन्द्र के परिजनों ने बुधवार को एसएसपी कार्यालय में एसपी देहात से मिलकर पूरा प्रकरण फर्जी बताते हुए इंस्पेक्टर मवाना पर गंभीर आरोप लगाए. सूत्रों के अनुसार एसपी देहात ने मामले की जांच करते हुए थाना पुलिस पर लगे आरोपों को सही पाया. इंस्पेक्टर ब्रज कुमार कुशवाहा सहित तीन पुलिसकर्मियों के निलंबन के आदेश के बाद थाने में खलबली मच गई.