- बेसिक शिक्षा विभाग के शिक्षकों की इंटरव्यू में खुली पोल

- 397 में से 86 लोग की क्लीयर कर सके इंग्लिश मीडियम टीचर का इंटरव्यू

GORAKHPUR: बेसिक स्कूल्स में कॉन्वेंट की तर्ज पर पढ़ाई का बीड़ा उठाने वाले बीएसए साहब के ज्यादातर शिक्षक ही मुहिम में फेल हो गए हैं. कई शिक्षकों के आवेदन में इंट्रेस्ट ही न दिखाने के बाद जिन्होंने लिखित परीक्षा दी भी, उनमें भी ज्यादातर इंटरव्यू क्लीयर नहीं कर सके हैं. 20 ब्लॉक में कुल 120 स्कूल्स के लिए आए प्रधानाध्यापक और सहायक अध्यापक के कुल 397 आवेदनों में से 86 ही लिखित परीक्षा के बाद इंटरव्यू क्लीयर कर सके.

जो आए वे भी न निकले काबिल

बता दें, जिले के 20 ब्लॉक में छह-छह स्कूल के हिसाब से 100 बेसिक स्कूल्स में कॉन्वेंट की तर्ज पर इंग्लिश मीडियम की पढ़ाई शुरू कराई जानी थी. इसके अलावा बेसिक शिक्षा परिषद ने 20 और स्कूल खोलने का निर्देश दे दिया. इसके लिए पहले आवेदन की तिथि में किसी भी शिक्षक ने इंट्रेस्ट नहीं दिखाया. आवेदन तिथि बढ़ाने के बाद कुल 397 शिक्षकों ने आवेदन किया. जिसमें 145 आवेदन प्रधानाध्यापक पद और 252 आवेदन सहायक अध्यापक पद के लिए आए. 29 मार्च को जब लिखित परीक्षा हुई तो ज्यादातर शिक्षक लिखित परीक्षा में पास हो गए. लेकिन जब अप्रैल के फ‌र्स्ट वीक में इन शिक्षकों को इंटरव्यू के लिए बुलाया गया तो महज 30 प्रधानाध्यापक व 56 सहायक अध्यापकों का ही सेलेक्शन हो पाया. इन शिक्षकों को 43 स्कूल्स में पढ़ाने के लिए भेज दिया गया है.

नाम, पता बताने तक में निकल गई हवा

बेसिक शिक्षा विभाग की तरफ से मिली जानकारी के मुताबिक शिक्षकों का इंटरव्यू लेने वालों में एडी ग‌र्ल्स इंटर कॉलेज की इंग्लिश लेक्चरर दीप्ति और डीडीयूजीयू से प्रो. अजय शुक्ला आए थे. इस दौरान ज्यादातर शिक्षक ठीक से इंटरव्यू फेस तक नहीं कर सके. कई तो अपना व परिवार के सदस्यों के नाम तक ठीक ढंग से बता नहीं पा रहे थे. इस पर बीएसए ने शिक्षकों को फटकार भी लगाई थी.

बॉक्स

77 स्कूल्स को करना होगा इंतजार

397 शिक्षकों में से मात्र 86 लोगों के ही इंटरव्यू क्लीयर करने के चलते 77 स्कूल्स इंग्लिश मीडियम बनने की मुहिम से दूर होते नजर आ रहे हैं. इंटरव्यू में सेलेक्टेड 86 शिक्षकों को 43 स्कूल्स पर तैनात कर दिया गया है जबकि बीएसए रामसागर पति त्रिपाठी का कहना है कि बचे स्कूल्स के लिए टीचर्स परीक्षा दोबारा कराई जाएगी.

फैक्ट फिगर

- 20 ब्लॉक में कुल 120 स्कूल्स को बनाया जाना था इंग्लिश मीडियम स्कूल

- प्रत्येक ब्लॉक से 6-6 स्कूलों का किया गया था चयन

- कुल 397 शिक्षकों के आए आवेदन

- 145 प्रधानाध्यापक पद के लिए

- 252 सहायक अध्यापक पद के लिए

- 29 मार्च को हुई लिखित परीक्षा

- 3 अप्रैल से शुरू हुआ इंटरव्यू

- 30 सहायक अध्यापक हुए पास

- 56 प्रधानाध्यापक हुए पास

- 43 स्कूल्स के लिए हुआ चयन

वर्जन

शिक्षक संघ और खंड शिक्षा अधिकारी से शिक्षकों की भरपाई के लिए कहा गया है. जो शिक्षक इंटरव्यू पास नहीं कर पाए, उन्हें फटकार लगाई गई. दूसरे शिक्षकों को लगाने के लिए मई में फिर से परीक्षा कराई जाएगी.

- रामसागर पति त्रिपाठी, बीएसए