-मेयर के सवाल पर निरुत्तर रहे मेडिकल कॉलेज के एसआईसी डॉ. एसके श्रीवास्तव

allahabad@inext.co.in

ALLAHABAD: गंदगी और मनमानी की शिकायत पर शुक्रवार को अचानक मेडिकल कॉलेज पहुंची मेयर अभिलाषा गुप्ता वहां की स्थिति देख कर दंग रह गई. मेन गेट से वार्ड तक और पोस्टमार्टम हाउस से ट्रामा सेंटर तक फैली गंदगी और अव्यवस्था चीख-चीख कर लापरवाही की चुगली करती रही. यह सब देखते ही मेयर मेडिकल कॉलेज के एसआईसी डॉ. एसके श्रीवास्तव से पूछा कि मेडिकल कॉलेज परिसर में इतनी गंदगी क्यों है? क्या सरकार सफाई और व्यवस्था के लिए पैसा नहीं देती? मेयर के इन सवालों पर एसआईसी निरुत्तर रहे.

खुली मनमानी की पोल

दोपहर करीब 12 बजे मेयर क्षेत्रीय पार्षद आकाश गुप्ता, पूर्व पार्षद पुलकित यादव व अन्य लोगों के साथ मेडिकल कॉलेज पहुंचीं. उन्होंने पाया कि चारों तरफ गंदगी का ढेर लगा हुआ है. जगह-जगह मेन होल के ढक्कन खुले हुए हैं. अप्रोच मार्ग भी क्षतिग्रस्त है. सुलभ शौचालय भी काफी गंदा मिला. निरीक्षण करते हुए मेयर पुराने पोस्टमार्टम हाउस पहुंचीं. वहां लगी एसी खराब थी और अंदर शव सड़ रहे थे. नए पोस्टमार्टम हाउस में बिजली के बोर्ड उखड़े हुए थे. वहां से मेयर वार्डो पहुंची तो नर्स और डॉक्टर गायब मिले. प्लास्टर सेंटर में गंदगी का अंबार लगा हुआ था. ट्रामा सेंटर में भर्ती एक मरीज की हालत गंभीर बनी हुई थी. उसके बेड पर चादर तक नहीं बिछी थी. मंडरा रही मक्खियां सफाई व्यवस्था की पोल खोल रही थीं. डॉक्टर से इस स्थिति की वजह पूछी गई तो वे भी निरुत्तर ही रहे.

सीएम से करेंगी शिकायत

-मरीजों के परिजनों ने मेयर से शिकायत की कि मेडिकल कॉलेज में प्राइवेट एम्बुलेंस वालों की लाइन लगी रहती है.

-मेडिकल कॉलेज में प्राइवेट एम्बुलेंस मरीजों व उनके तीमारदारों से दोगुना किराया लेते हैं

-मेयर ने एसआईसी से कहा कि प्राइवेट एम्बुलेंस वालों को कैंपस से बाहर किया जाए.

-मेन गेट बंद कर चेन लगाने की शिकायत पर मेयर ने उसे तत्काल खोलने के लिए कहा

-मेयर ने मेडिकल कॉलेज की दु‌र्व्यवस्था और मनमानी की शिकायत स्वास्थ्य मंत्री और सीएम से करने की बात कही.