मेडिकल कॉलेज पहुंचे चिकित्सा व टेक्निकल एजुकेशन मिनिस्टर आशुतोष टंडन

मॉड्यूलर ओटी का लोकार्पण, रिसेप्शन हॉल और एडवांस लेबर रूम ओटी का किया शिलान्यास

Meerut. मेडिकल कॉलेज में जल्द ही सभी सुविधाएं ऑनलाइन होगी. यही नहीं प्राइवेट अस्पतालों की तर्ज पर यहां वेटिंग हॉल, रिसेप्शन हॉल, कैफेटेरिया आदि का भी निर्माण किया जाएगा. यह घोषणा शनिवार को चिकित्सा व टेक्निकल एजुकेशन मिनिस्टर आशुतोष टंडन गोपालजी ने लाला लाजपत राय स्मारक मेडिकल कॉलेज के सभागार में की. यहां उन्होंने एडवांस ओटी का लोकार्पण किया. इसके साथ ही उन्होंने कॉलेज में बनने वाले पंजीकरण व रिसेप्शन हॉल व लेबर रूम कॉम्पलेक्स व मॉड्यूलर ओटी का शिलान्यास भी किया.

बना रहे रोडमैप

चिकित्सा व टेक्निकल एजुकेशन मिनिस्टर आशुतोष टंडन गोपालजी ने कहा कि हमने मेडिकल एजुकेशन को बेहतर बनाने के लिए रोडमैप तैयार किया है. शासन की ओर से 8 नए मेडिकल कॉलेज खोले जाने की योजना बन रही है. डॉक्टर्स की कमी को देखते हुए एमबीबीएस की सीटें भी 2000 से बढ़ाकर 4000 की जाएंगी.

ह रहे मौजूद

इस दौरान सांसद राजेंद्र अग्रवाल, क्षेत्रीय विधायक सोमेंद्र तोमर, डीजीएमई डॉ. के.के. गुप्ता, एमएलसी डॉ. सरोजनी अग्रवाल, पूर्व विधायक लक्ष्मीकांत वाजपेयी, कॉलेज प्रिंसिपल डॉ. आरसी गुप्ता, एसआईसी डॉ. राकेश दूबे, डॉ. दिनेश राणा मुख्य रूप से मौजूद रहे

मरीजों से हालचाल पूछा

मंत्री आशुतोष टंडन ने मेडिकल कॉलेज में प्रधानमंत्री स्वास्थ्य योजना के तहत बन रही सुपर स्पेशलिटी विंग का निरीक्षण किया. इस दौरान उन्होंने बिल्डिंग चेक की व यहां मिलने वाली योजनाओं के बारे में जानकारी भी ली. इसके बार न्यू इमरजेंसी व ट्रॉमा सेंटर पहुंचे मंत्री ने मरीजों से हालचाल पूछे. इसके अलावा इमरजेंसी में मरीजों को दी जा रही सुविधाओं का भी जायजा लिया. साथ ही उन्होंने 20 बेड के बंद पड़े मल्टीरूम के बारे में भी जानकारी हासिल की.

शिलापट पर कालिख पोती

मेडिकल कॉलेज में पर्चा काउंटर पर जिस शिलापट को लेकर विवाद चल रहा था, उसे काले रंग से पोत दिया गया. इस संबंध में प्रिंसिपल डॉ. आरसी गुप्ता ने कहा कि उन्हें इस बारे में कोई जानकारी नहीं हैं. जबकि शिलापट को हटाने या लगाएं रखने के लिए भी उनकी ओर से डीजीएमई को पत्र लिखकर अवगत करवा दिया गया है. ऐसे में शिलापट का फैसला डीजीएमई ही करेंगे.

लाइव सर्जरी की सुविधा

मेडिकल कॉलेज में बने ट्रामा सेंटर में जल्द ही डिजिटल ओटी बनेगा, जिससे ओटी में स्टूडेंट्स लाइव सर्जरी देखकर अपनी प्रैक्टिस कर सकेंगे. इसके लिए ओटी में कैमरे व सुपर नेटवर्किंग की गई हैं. इस नेटवर्किंग के जरिए दुनियाभर के डॉक्टर्स को इस सिस्टम से जोड़ा जा सकता है.

मारपीट मामले पर जांच

शुक्रवार को मेडिकल कॉलेज में डॉक्टर और कर्मचारियों के बीच मारपीट पर मंत्री ने कड़ी नाराजगी जताई. इस दौरान वह ट्रॉमा सेंटर में एडमिट सीएमएस डॉ. अजीत चौधरी से मिले और पूरे प्रकरण के बारे में जानकारी हासिल की. आईएमए के सदस्यों ने भी मंत्री से मुलाकात की. उन्होंने कहा कि यह कृत्य काफी दुर्भाग्यपूर्ण और निंदनीय है. इस प्रकरण को लेकर उच्च स्तरीय जांच करवाई जाएगी. वहीं शराब प्रकरण को लेकर भी उन्होंने रोष जताया. इसके अलावा शिक्षकों को 7वें पे कमीशन न मिलने पर उन्होंने कहा कि इसके लिए जीओ जारी किया जा रहा है.