- जिले में विकसित किए जा रहे हैं सब सेंटर्स, मरीजों को मिलेगा प्रारंभिक इलाज

allahabad@inext.co.in

ALLAHABAD: छोटी मोटी जांच और इलाज के लिए अब हॉस्पिटल के चक्कर नही काटने होंगे. घर के नजदीक ही मरीजों को यह सुविधा उपलब्ध हो जाएगी. केंद्र सरकार द्वारा आयुष्मान योजना के बाद हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर की सौगात दी है. इसके तहत हेल्थ सब सेंटर्स को अपग्रेड कर उनको विकसित किया जाएगा. जिले में इस महत्वपूर्ण योजना की शुरुआत हो चुकी है और जल्द ही मरीजों को लाभ भी मिलने लगेगा.

एएनएम दे सकेगी मरीजों को दवा

जिले में कुल 550 हेल्थ सब सेंटर संचालित हैं. इनमें फिलहाल परिवार नियोजन और मैटर्नल हेल्थ से रिलेटेड अभियान एएनएम द्वारा चलाया जाता है. लेकिन जल्द ही यहां प्रारंभिक इलाज व जांच भी उपलब्ध होंगी. इसके लिए एएनएम सहित दूसरे पैरामेडिकल स्टाफ को ट्रेंड किया जा रहा है. इनमें एएनएम आने वाले मरीजों की जांचकर उन्हें दवाएं भी दे सकेंगी. अधिक गंभीर मर्ज हुआ तो मरीजों को रेफरल सेंटर भेज दिया जाएगा.

सबसे पहले कौडि़हार को मिला लाभ

इस योजना का लाभ सबसे पहले कौडि़हार को मिल रहा है. यहां पर सर्वाधिक 28 सब सेंटर को चयनित कर अपग्रेड किया जा रहा है. इसके अलावा दो सेंटर होलागढ़ और एक गोविंदपुर अर्बन पीएचसी को भी चयनित किया जा रहा है. वहीं अलग से पांच पीएचसी को चुना गया है. इस तरह से 65 सब सेंटर को हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर पहले फेज में बनाया जा रहा है. सरकार की ओर से सेंटर अपग्रेडेशन के लिए स्वास्थ्य विभाग को एक्स्ट्रा फंड भी प्रोवाइड कराया गया है. इस सेंटर का सबसे ज्यादा लाभ मैटरनल हेल्थ से रिलेटेड महिलाओं को मिलेगा.

- जिले में हैं 550 सेंटर, पहले चरण में 65 सब सेंटर

फैक्ट फाइल

550 जिले में कुल हेल्थ सब सेंटर्स

65 पहले फेज में चयनित सब सेंटर

28 कौडि़हार के सेंटर की संख्या

02 होलागढ़ के कुल सेंटर्स

05 अन्य सेंटर्स की संख्या

अर्बन के सेंटर: गोविंदपुर अर्बन पीएचसी

कौडि़हार से शुरुआत की जा रही है. सरकार ने अलग से फंड दिया है. इन सेंटर्स पर डॉक्टर नहीं होंगे, लेकिन स्टाफ मरीजों की जांचकर उन्हें दवा दे सकेगा. इसकी अलग से ट्रेनिंग उपलब्ध कराई जा रही है.

-वीके सिंह, डीपीएम, एनएचएम