व‌र्ल्ड पापुलेशन-डे की बैठक में हुई रैकिंग

512 लोगों की नसबंदी कराई गई अप्रैल से जुलाई के बीच

77 पुरुषों और 435 महिलाओं की हुई नसबंदी

5वां स्थान मिला मेरठ को महिला नसबंदी में

3 स्थान मिला मेरठ को पुरुषों की नसबंदी में

141 केस के साथ बागपत को मिला दूसरा स्थान

2000 हजार रुपये महिलाओं को दी जाती है प्रोत्साहन राशि

3000 रूपये पुरुषों को मिलती है प्रोत्साहन राशि

Meerut. बढ़ती जनसंख्या को रोकने के लिए स्वास्थ्य विभाग की नसबंदी योजना में मेरठ पांचवे स्थान पर पहुंच गया है. व‌र्ल्ड पॉपुलेशन डे के 15 दिन बाद नसबंदी योजना की समीक्षा बैठक में प्रदेश स्तर पर यह रैकिंग हासिल हुई है. इस रैंकिंग में पहला स्थान इलाहाबाद को ि1मला है.

500 से ज्यादा नसबंदी

अप्रैल से जुलाई में चले कैंपेन के दौरान स्वास्थ्य विभाग ने 512 लोगों की नसबंदी करवाई हैं. जिसमें पुरुषों की संख्या 77 हैं जबकि महिलाओं की संख्या 435 हैं. जिसमें महिला नसबंदी में मेरठ को पांचवा और पुरुष नसबंदी में तीसरा स्थान मिला हैं. जबकि पुरुष नसबंदी में इलाहाबाद को पहला, बागपत को 141 केस के साथ दूसरा स्थान मिला हैं. हालांकि नसबंदी को लेकर फैली भ्रांतियों को लेकर पुरुषों की संख्या काफी कम हैं जबकि 96 प्रतिशत भार महिलाओं के कंधे पर है.

यह है मिली है रैकिंग

जिला- कुल नसबंदी- महिला - पुरुष

इलाहाबाद- 1340- 1090- 250

वाराणासी - 878- 852

गोरखपुर- 610- 601

गाजीपुर- 554- 00

मेरठ -512- 435- 77

पिछले सालों का आंकड़ा

अप्रैल से मार्च तक

वर्ष- ---महिला - पुरुष

2013-14-- 4668---199

2014-15--4602--279

2015- 16- 3846--108

2016- 17- 3924--119

2017-18- 7785 कुल केस

जागरुकता के अभाव के चलते पुरुषों में नसबंदी को लेकर काफी भ्रांतियां हैं. परिवार नियोजन के अन्य तरीके उपलब्ध होने से इसे वह सबसे आखिर में अपनाते हैं. हालाकि इसके लिए हम तरह के कैंपेन चला रहे हैं.

डॉ. राजकुमार, सीएमओ, मेरठ