- ल2ानऊ और दिल्ली च1कर काटने से मिलेगी निजात

- कारोबारियों के मुकदमों की पेंडेंसी होगी 2ात्म

Meerut . जिले के कारोबारियों के लिए राहत 5ारी 2ाबर है. अब उन्हें अपने मुकदमों में न्याय मिलने में देर नहीं लगेगी. अब मेरठ में कारोबारी विवाद को निपटाने के लिए मेरठ में अलग से वाणिज्यिक अदालत 2ाोली जाएगी. जिससे कारोबारियों को मुकदमों के लिए ल2ानऊ व इलाहाबाद का च1कर नहीं काटना पड़ेगा.

कई मुकदमें पेडिंग

मेरठ में कारोबारियों के करीब 4 हजार मुकदमें पेंडिग हैं. इससे व्यापारियों को न्याय मिलने में देर हो रही है. अब योगी सरकार ने कारोबारियों को फायदा पहुंचाने के लिए प्रदेश में मेरठ समेत 13 जिलों में वाणिज्यिक अदालत 2ाोलने की घोषणा की है. योगी सरकार की कैबिनेट बैठक में इससे मंजूरी मिल गई है.

व्यापारियों को मिलेगा फायदा

-व्यापारियों को अब जल्द न्याय मिलेगा.

-व्यापारियों को मुकदमों के लिए ल2ानऊ व इलाहाबाद के च1कर नहीं काटने पड़ेंगे.

----------------------------

वाणिज्यिक कोर्ट से व्यापारियों को काफी फायदा होगा. कोर्ट की स्थापना से मुकदमों की पेंडेंसी 5ाी 2ात्म हो जाएगी.

- प्रबोध शर्मा महामंत्री मेरठ बार एसोसिएशन

---------------------

वाणिज्यिक अदालत आ जाने से व्यापारियों को जल्द ही न्याय मिल जाएगा. इससे व्यापारियों के साथ अन्य लोगों को 5ाी काफी फायदा होगा

अनिल ब2शी, पूर्व अध्यक्ष मेरठ बार एसोसिएशन

----------------------

योगी सरकार की एक अच्छी पहल है. वाणिज्यिक अदालत आ जाने से व्यापारियों को बहुत जल्द ही न्याय मिलेगा.

रोहताश्व अग्रवाल,अध्यक्ष

मेरठ बार एसोसिएशन

------------------------

कचहरी में मुकदमों की सं2या बढ़ती जा रही है. अदालतों की सं2या कम है. इसलिए वाणिज्यिक अदालत आ जाने से मुकदमों की सं2या कम हो जाएगी.

हर्ष चौधरी,एडवोकेट