क्त्रन्हृष्ट॥ढ्ढ रांची यूनिवर्सिटी छात्र संघ चुनाव पर संशय बरकरार है. रांची यूनिवर्सिटी के एक्स वीसी डॉ प्रोफेसर देवेंद्र प्रसाद गुप्ता के निधन के बाद बुलाई गयी कंडोलेंस मीटिंग की वजह से मंगलवार को इसकी तिथि पर निर्णय लेने के लिए चुनाव कोर कमिटी की बैठक कैंसिल कर दी गई. यूनिवर्सिटी के डीएसडब्ल्यू डॉ पीके वर्मा ने बताया कि छात्र संघ चुनाव पर मंगलवार को फैसला नहीं लिया जा सका, क्योंकि एक्स वीसी डॉ डीपी गुप्ता के निधन के बाद कंडोलेंस मीटिंग कर उन्हें श्रद्धांजलि दी गयी. हालांकि छात्र संघ चुनाव पर वर्कआउट किया जा चुका है. बुधवार को होनेवाली बैठक में इसपर निर्णय लिया जा सकता है.

बार-बार बढ़ रही तारीख

पहले छात्र संघ चुनाव की अधिसूचना जारी करने के लिए 23 दिसंबर की तिथि निर्धारित की गयी थी. लेकिन इसकी घोषणा करने में आरयू प्रशासन विफल रहा. इसके लिए रांची विश्वविद्यालय प्रशासन ने कॉलेज प्रबंधन को जिम्मेवार ठहराया. विवि ने कहा कि कॉलेजों की ओर से संशोधित वोटर लिस्ट नहीं भेजने के कारण अधिसूचना जारी नहीं की जा सकी. इसलिए इसपर निर्णय दो जनवरी को लिया जायेगा पर दो जनवरी को बैठक टल गई.

इन वजहों से स्थगित हुआ चुनाव

गौरतलब है कि आरयू की ओर से पहले चुनाव के लिए नोटिफिकेशन जारी किया गया था. इसके अनुसार कॉलेजों और पीजी विभागों में 18 दिसंबर और यूनिवर्सिटी स्तर पर 24 दिसंबर को चुनाव होना था पर विभिन्न छात्र संगठनों की ओर से लगभग 57 हजार स्टूडेंट के चुनाव में शामिल होने से वंचित होने की आशंका से इसे स्थगित कर दिया गया.

फरवरी में होना है यूथ फेस्टिवल भी

16 से 20 फरवरी तक राष्ट्रीय युवा महोत्सव रांची यूनिवर्सिटी में होना है. इसे सफल बनाने में अधिकांश पदाधिकारी जनवरी से ही लगे रहेंगे. जनवरी में ऑटोनॉमस कॉलेजों और पीजी कला, विज्ञान तथा कॉमर्स में सेमेस्टर की परीक्षाएं होंगी. ऐसे में फरवरी में छात्र संघ चुनाव कराना यूनिवर्सिटी प्रशासन के लिए आसान नहीं होगा.