-लास्ट ईयर 14 अक्टूबर को करवाया गया था छात्रसंघ चुनाव

-लेकिन तब दशहरा और मोहर्रम पड़े थे साथ, इसलिए अक्टूबर में हुआ था चुनाव

-पूरी चुनावी प्रक्रिया के लिए चाहिए दस दिन का समय

allahabad@inext.co.in

ALLAHABAD: अगस्त बीत रहा है और इलाहाबाद यूनिवर्सिटी में छात्रसंघ चुनाव के लिए रिटर्निग ऑफिसर की नियुक्ति की जा चुकी है. ऐसे में सभी को छात्रसंघ चुनाव 2018 की डेट्स डिक्लेयर होने का पूरी बेसब्री के साथ इंतजार है. लेकिन मौजूदा हालात में डेट्स को डिक्लेयर कर पाना इतना आसान काम नहीं है. छात्रसंघ चुनाव के आड़े कई सारी चुनौतियां हैं. इनसे पार पाना एयू एडमिनिस्ट्रेशन के ऑफिसर्स के लिए बड़ा चैलेंज है.

फोर्स मिलना है जरूरी

इस बारे में शनिवार को हुई छात्रसंघ चुनाव की एडवाइजरी कमेटी की बैठक में मंथन किया गया. यह बैठक एडवाइजरी कमेटी के चेयरमैन प्रो. आरके सिंह की अध्यक्षता में हुई. इसमें इस बात पर चर्चा की गई कि चुनाव कब तक हो सकेंगे? कमेटी की बैठक में इस बात पर जोर दिया गया कि जल्द से जल्द जिला प्रशासन के साथ बैठक करके यह तय किया जाए कि एयू एडमिनिस्ट्रेशन को चुनाव के लिए फोर्स कब मिल सकेगी?

15 अक्टूबर हुआ था शपथ ग्रहण

जानकारी के मुताबिक जिला प्रशासन और पुलिस के अफसरों की ओर से फोर्स की उपलब्धता बहुत हद तक त्योहारों पर निर्भर करेगी. वहीं एयू एडमिनिस्ट्रेशन के सामने चैलेंज होगा कि वह अब जल्द से जल्द वोटर लिस्ट तैयार कर ले. बता दें कि लास्ट इयर छात्रसंघ चुनाव 14 अक्टूबर को करवाया गया था. वहीं शपथ ग्रहण समारोह 15 अक्टूबर को करवाया गया. लेकिन साल 2017 में मोहर्रम और दशहरा एक साथ पड़ा था. लास्ट ईयर विजयदशमी का त्यौहार 30 सितम्बर और मोहर्रम 01 अक्टूबर को पड़ा था. ऐसे में इन दोनों में पुलिस और प्रशासन की व्यस्तता के चलते उस वक्त चुनाव अक्टूबर में करवाया गया.

30 सितंबर के आसपास संभावना

-2018 में मोहर्रम 21 सितम्बर को पड़ा रहा है और नवरात्र की नवमी के बाद विजयदशमी 19 अक्टूबर को है.

-इससे पहले 02 अक्टूबर को महात्मा गांधी जयंती का भी सरकारी अवकाश है.

-जानकारों का कहना है कि छात्रसंघ का चुनाव 30 सितम्बर के आसपास करवा लिया जाए तो बेहतर होगा.

-इस तिथि पर चुनाव पूर्व के वर्षो में हो चुका है. लेकिन इससे पहले वोटर लिस्ट का तैयार होना भी जरूरी है.

-यदि यह काम अटकता है तो फिर चुनाव दशहरे से पहले होंगे. पूरी चुनावी प्रक्रिया सम्पन्न होने के लिए कम से कम दस दिन का समय चाहिए.

एयू समेत चार कॉलेज में साथ चुनाव

एयू में वोटर लिस्ट को फाइनल कर पाना आसान काम नहीं है. क्योंकि एयू में न्यू एकेडमिक सेशन का दाखिला ही 10 अगस्त तक चला है. ऐसे में यूजी और पीजी प्रथम वर्ष का आई कार्ड भी छात्रों के पास होना जरूरी है. क्योंकि, आई कार्ड के आधार पर ही चुनाव में छात्र वोट डालते हैं. सीएमपी डिग्री कॉलेज समेत कुछ कॉलेजेस में अभी भी दाखिले की प्रक्रिया जारी है. जबकि एयू समेत चार कॉलेज सीएमपी, ईश्वर शरण डिग्री कॉलेज, श्यामा प्रसाद मुखर्जी कॉलेज और इलाहाबाद डिग्री कॉलेज में छात्रसंघ चुनाव एक साथ करवाए जाते हैं. एयू में मतदाताओं की संख्या 20 हजार से ज्यादा होती है.

एडवाइजरी कमेटी की मीटिंग में जिला प्रशासन के साथ होने वाली बैठक पर मंत्रणा की गई. छात्रसंघ चुनाव की डेट फोर्स की उपलब्धता और वोटर लिस्ट के तैयार होने पर डिपेंड करेगी. वोटर लिस्ट तैयार करने में 15 से 20 दिन का समय लगेगा.

-प्रो. आरके उपाध्याय

रिटर्निग ऑफिसर 2018