-कुंभ में दी जाने वाली सुविधाओं का प्रचार करने विशाखापट्टनम पहुंची पर्यटन विभाग की टीम

allahabad@inext.co.in

ALLAHABAD: संगम की रेती पर चार महीने के बाद कुंभ मेला का आयोजन होने जा रहा है. कुंभ मेला में इस बार क्या खास किया जा रहा है और कौन-कौन सी सुविधाएं पर्यटकों को उपलब्ध कराई जाएगी. इसको लेकर देश में प्रचार-प्रसार का कार्य शुरू हो चुका है. कैम्पेन की इस कड़ी में आंध्र प्रदेश के विशाखापट्टनम में आयोजित तीन दिवसीय इंडियन एसोसिएशन आफ टूर आपरेटर्स ट्रैवल मार्ट में लखनऊ स्थित पर्यटन विभाग के मुख्यालय के निर्देश पर इलाहाबाद से एक प्रतिनिधिमंडल पहुंचा है. जिसमें क्षेत्रीय पर्यटन अधिकारी अनुपम श्रीवास्तव की अगुवाई में टूर आपरेटर्स को आने के लिए आमंत्रित किया गया है.

छह को शुरू हुआ था मार्ट

विशाखापट्टनम में ट्रैवल मार्ट का उद्घाटन छह सितम्बर को केन्द्रीय मंत्री केजी अल्फांस ने किया. जिसमें कुंभ का प्रचार-प्रसार करने के लिए चार स्टॉल लगाए गए हैं. इसके अलावा तीन दिनों के मार्ट के दौरान तीन दर्जन से अधिक आपरेटर्स को कुंभ बुकलेट प्रदान की जाएगी. ताकि कुंभ के दौरान दी सुविधाओं को ज्यादा से ज्यादा प्रसारित किया जा सके.

दिल्ली और कोलकता का रुख

विशाखापट्टनम में चल रहे ट्रैवल मार्ट के बाद सितम्बर के तीसरे और अंतिम सप्ताह में लगातार दो और बड़े स्तर पर ट्रैवल मार्ट का आयोजन क्रमश : दिल्ली और कोलकता में होने जा रहा है. इन दोनों मार्ट में भी कुंभ की कैम्पेन के लिए विभागीय टीम भेजी जाएगी. दिल्ली जाने वाली टीम लखनऊ मुख्यालय से और कोलकता जाने वाली टीम का प्रतिनिधित्व इलाहाबाद से होगा.

दो महीने डोर टू डोर

कुंभ मेला को दिव्य और भव्य बनाने के लिए पर्यटन विभाग द्वारा देश के प्रत्येक राज्यों में स्थित क्षेत्रीय पर्यटन कार्यालयों में अधिकारियों को भेजा जाएगा. कैम्पेन का यह कार्य अक्टूबर और नवम्बर महीने में व्यापक स्तर पर किया जाएगा. इसके लिए मुख्यालय से कुंभ बुकलेट प्रदान की जाएगी जिसके जरिए देश के प्रत्येक प्रांतों मेला में आने के लिए आमंत्रित किया जाएगा.

वर्जन

पर्यटन मुख्यालय के निर्देश पर देश में आयोजित होने वाले ट्रैवल मार्ट में कुंभ का प्रमोशन किया जाएगा. इसकी शुरुआत विशाखापट्टनम मार्ट से हो चुकी है. इसके बाद अधिकारियों की टीम दिल्ली और कोलकता के लिए रवाना होगी.

अनुपम श्रीवास्तव, क्षेत्रीय पर्यटन अधिकारी