शक्ति पीठ मां कल्याणी देवी और मां ललिता देवी सहित अन्य देवी धामों में दिनभर चला पूजन-अर्चन

allahabad@inext.co.in

ALLAHABAD: शारदीय नवरात्र के दूसरे दिन देवी धामों में जय माता दी, जय माता दी के जयकारे के बीच मां भगवती के ब्रह्माचारिणी स्वरूप का पूजन-अर्चन करने के लिए ब्रह्मा मुहूर्त में कपाट खुलने के बाद से ही श्रद्धालुओं की भीड़ उमड़ पड़ी. जहां मां कल्याणी देवी मंदिर के गर्भगृह को जड़ी व रत्‍‌न से सुसज्जित साडि़यों से सजाया गया वहीं मां ललिता देवी का दरबार बुके व स्टिक से सुशोभित था. हाथों में पूजन सामग्री लेकर मां के मनोहारी श्रृंगार का दर्शन करने के लिए दोनों मंदिरों में दिनभर श्रद्धालुओं का ताता लगा रहा.

पालना छूने की लगी होड़

अलोपीबाग स्थित मां अलोपशंकरी मंदिर में स्थित मां का पालना छूने के लिए सुबह से लेकर देर शाम तक श्रद्धालुओं का पहुंचने का सिलसिला जारी रहा. दोपहर की आरती के बाद मंदिर परिसर में मनोकामना पूर्ति के लिए दूरदराज के क्षेत्रों से पहुंचकर श्रद्धालुओं ने निशान चढ़ाया तो परिसर में बैठकर श्रद्धालुओं ने दीप जलाकर दुर्गा सप्तशती का पाठ भी किया. चौक स्थित खेमामाई मंदिर में कंचन मालवीय की देखरेख में देवी का श्रृंगार व पूजन-अर्चन किया गया. ललिता देवी व कल्याणी देवी मंदिर के परिसर में चल रहे शतचंडी महायज्ञ में दर्जनों लोगों ने आहुतियां डाली.