- पॉलीटिकल साइंस,इंग्लिश में बढ़ा क्रेज

- संस्कृत, हिंदी, सोशलॉजी में कम हुआ क्रेज

MEERUT । सीसीएसयू व संबंधित कॉलेजों में 22 मई से यूजी लेवल पर एडमिशन के लिए रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया शुरु होगी। इस बार सभी बोर्ड के बंपर रिजल्ट रहे, इसके तहत उम्मीद है कि इस बार सभी स्ट्रीम की मेरिट 90 के भी पार जाएगी, जिससे एडमिशन की डगर मुश्किल हो जाएगी। गौरतलब है कि बीते पांच साल में बीकॉम का क्रेज सबसे अधिक बढ़ा है, जिससे इस बार भी बीते पांच साल के अनुसार हाई मेरिट के आसार हैं।

पांच सालों से लगातार सबसे हाई

गौरतलब है कि पांच साल में कॉलेजों व कैम्पस में बीकॉम की मेरिट सबसे अधिक जा रही है। अन्य स्ट्रीम की तुलना में बीकॉम की मेरिट बहुत हाई जा रही है। पिछले साल भी 80 प्रतिशत के पार ही पहली मेरिट पहुंची थी, वही 2017 में भी ये बीकॉम की ही मेरिट सबसे हाई थी, जो 79 प्रतिशत के पार थी, इससे पहले 2016 में 76 फीसदी के पार थी, इससे पहले भी दो सालों में भी मेरिट हाई गई है। इस बार भी बीकॉम की मेरिट हाई जाने के चांस हैं।

पीसीबी साइंस का क्रेज

साइंस साइड में मैथ्स का क्रेज कम है। वहीं दूसरी ओर बायो का क्रेज अधिक है। बीते तीन साल में मैथ्स की मेरिट 7 प्रतिशत कम हुई है और बायो की मेरिट 8 से 10 प्रतिशत बढ़ी है, इस बार भी बायो की मेरिट 90 प्रतिशत तक जाने की संभावना है। वहीं बीए में बीते पांच साल में पॉलिटिकल साइंस व इंग्लिश का क्रेज अधिक दिख रहा है, वहीं संस्कृत, हिंदी, जियोग्राफी, सोशलॉजी का क्रेज कम हो गया है।

ऐसे घटा क्रेज

बीए में बीते पांच साल 60 सीट में से मुश्किल से आठ सीट ही हिंदी की भर पाती थी, पांच सीट ही संस्कृत की व 40 सीट ऐसी होती है जो या तो पॉलिटिकल साइंस व इंग्लिश की भरी गई है। वहीं पॉलिटिकल साइंस व इंग्लिश का क्रेज है।

बीते सालों में बीकॉम, बीए, पॉलिटिकल साइंस, इंग्लिश आदि का क्रेज बढ़ता दिख रहा है। इनकी मेरिट भी काफी हाई जा रही है।

डॉ। प्रशांत कुमार, प्रेस प्रवक्ता, सीसीएसयू

स्टूडेंट्स में बीकॉम को लेकर काफी क्रेज है, बीते पांच सालों में लगातार हाई मेरिट जाने से ही ये पता लग रहा है।

डॉ। किरण प्रदीप, प्रिंसिपल, कनोहरलाल पीजी कॉलेज,

इस बार भी बीकॉम की मेरिट हाई जाने के चांस है, पहले भी मेरिट सबसे हाई जाती रही है। बीकॉम का बहुत ही क्रेज है।

डॉ। बीएस यादव, प्रिंसिपल, डीएन कॉलेज