नई दिल्ली (आईएएनएस)माइक्रोसॉफ्ट ने घोषणा की है कि वह भारत में एक ऐसा फ्री ऑनलाइन कोर्स शुरू कर रहा है जो लोगों को क्लाउड कंप्यूटिंग के साथ-साथ खासतौर पर डेटा प्रोटेक्शन, रेगुलेशन सिक्योरिटी और उसके तौर तरीकों की बारीकियां समझाएगा। इस कोर्स के लिए यूजर्स को कोई पैसा नहीं देना होगा। कंपनी ने बताया है कि उसने यह कोर्स myLaw लर्निंग पार्टनर के साथ मिलकर शुरू किया है।

सीखने को मिलेंगी क्‍लाउड कंप्‍यूटिंग और यूरोपियन डाटा प्रोटेक्‍शन एक्‍ट की बारीकियां
कंपनी ने बताया है कि दो चरणों में चलने वाला यह ऑनलाइन कोर्स तमाम स्टूडेंट्स, बिजनेसमैन, लीगल प्रोफेशनल्स को डाटा प्रोटेक्‍शन से जुड़ी छोटी बड़ी सब बातें बताएगा। इस कोर्स में यूरोपियन जनरल डाटा प्रोटेक्‍शन रेगुलेशन की बारीकियां भी समझाई जाएंगी, जो पूरी दुनिया में डेटा प्राइवेसी को लेकर बनाया गया सबसे नया और सख्‍त कानून है। इसके साथ ही क्लाउड कंप्यूटिंग में सिक्योरिटी और बेस्ट प्रैक्टिसेज के बारे में भी यह कोर्स बहुत कुछ सिखाएगा।

माइक्रोसॉफ्ट ने भारत में शुरू किया डाटा प्रोटेक्शन सिखाने का फ्री ऑनलाइन कोर्स,क्‍या आप हैं तैयार?

डिजिटल इकॉनमी के लिए उचित लोगों को चाहिए बेस्‍ट स्किल
Microsoft के कारपोरेट और एक्‍सटर्नल लीगल अफेयर्स के डायरेक्टर केशव धकड़ का कहना है। कि यह बात हम अच्छी तरह जानते हैं कि किसी भी डिजिटल इकॉनमी को बेहतर ढंग से चलाने के लिए उचित लोगों को सही जानकारी और स्किल्स सिखाने और समझाने की जरूरत है। हम अपने पार्टनर माईलॉ के साथ जुड़कर तमाम लीगल और बिजनेस कंपनियों को क्लाउड कंप्यूटिंग डेटा प्रोटेक्शन और रेगुलेशंस के बारे में बेहतरीन जानकारियां देने को लेकर काफी एक्साइटेड हैं।

माइक्रोसॉफ्ट ने भारत में शुरू किया डाटा प्रोटेक्शन सिखाने का फ्री ऑनलाइन कोर्स,क्‍या आप हैं तैयार?

दो चरणों में पूरा होगा यह ऑनलाइन कोर्स वर्क
Microsoft के मुताबिक इस ऑडियो विजुअल कोर्स के पहले चरण में क्लाउड कंप्यूटिंग, डाटा प्रोटेक्‍शन, रेगुलेशंस से जुड़े टॉपिक्स कवर किए जाएंगे। जिनमें प्राइवेसी, डाटा प्रोटेक्‍शन, ट्रांसफरिंग डेटा और ट्रांसजेक्‍शनल क्‍लाउड नेटवर्क पर डेटा की सिक्योरिटी से जुडे टॉपिक्स पढ़ाए जाएंगे। कोर्स के दूसरे चरण में क्लाउड कंप्यूटिंग, डाटा प्रोटेक्‍शन कंप्लायंस से जुड़ी क्लासेस सितंबर में लॉन्च की जाएंगी। जिसमें GDPR और इंडियन आईटी एक्ट 2000 के आधार पर प्राइवेसी और सिक्योरिटी स्टैंडर्ड को पूरा करने से जुड़े नियम और रेगुलेशन बताएं और समझाए जाएंगे। Microsoft इंडिया और माईलॉ ने मिलकर इस कोर्स के लिए 2 से 3 घंटे का रन टाइम कोर्स वर्क तैयार किया है। इसके अलावा कोर्स करने वालों को तमाम अतिरिक्त सप्लीमेंट्री कंटेंट और रिफरेंस मटीरियल डाउनलोड करने की सुविधा भी मिलेगी।

अब स्मार्टफोन को बोलकर दीजिए आदेश और वो आपकी वीडियो कॉल ऑटो कनेक्ट कर देगा

अब एंड्रॉयड फोन पर बिना ट्रूकॉलर के पता चलेगी कॉलर ID और मिलेगा स्पैम प्रोटेक्शन, गूगल ने शुरू किया ये फीचर

कार के बाद स्मार्टफोन के लिए भी आ गए एयरबैग, जो उसे टूटने नहीं देंगे

Technology News inextlive from Technology News Desk