माइक्रोसॉफ्ट ने ब्राउजर प्रोटेक्‍शन के लिए लॉन्‍च किया फ्री क्रोम एक्‍सटेंशन

दुनिया के सबसे पॉपुलर ऑपरेटिंग सिस्‍टम windows पर वायरस अटैक से बचना अब आसान हो गया है। क्‍योंकि माइक्रोसॉफ्ट ने ब्राउजिंग द्वारा कंप्‍यूटर पर अटैक करने वाले वायरस को रोकने के लिए अपना खास ब्राउजर प्रोटेक्‍शन प्रोग्राम लॉन्‍च किया है। बता दें कि Windows Defender Antivirus माइ्क्रोसॉफ्ट का फुल एंटीवायरस प्रोग्राम है और अब कंपनी ने क्रोम और फायरफॉक्‍स के लिए अपना खास ब्राउजर प्रोटेक्‍शन एक्‍सटेंशन लॉन्‍च किया है। जिससे वेब द्वारा कंप्‍यूटर पर होने वाले वायरस अटैक से आपको निजात मिल सकती है।

वेबसाइट्स और ईमेल से आने वाले मालवेयर और फिशिंग अटैक को रोकेगा

विंडोज कंप्‍यूटर पर आमतौर वेबसाइट्स और और ईमेल अटैचमेंट द्वारा ही वायरस अटैक होता है। पर अब विंडोज ब्राउजर प्रोटेक्‍शन इंटरनेट से आने वाले किसी भी तरह के मालवेयर और फिशिंग अटैक को आपके सिस्‍टम में आने से रोक देगा।

फायरफॉक्‍स पर भी मिलेगा 99 परसेंट फिशिंग प्रोटेक्‍शन

कंपनी का दावा है कि क्रोम के अलावा फायरफॉक्‍स ब्राउजर पर भी विंडोज डिफेंडर प्रोटेक्‍शन फिशिंग अटैक से 99 परसेंट तक सुरक्षा करता है। यह प्रोग्राम सिस्‍टम पर वायरस उड़ेलने वाली सभी संदिग्‍ध वेबसाइटों को ब्‍लॉक कर सकता है। हालांकि गूगल क्रोम खुद भी मॉलवेयर से बचने के लिए एक बेसिक लेवल ऑनलाइन प्रोटेक्‍शन प्रदान करता है, लेकिन माइक्रोसॉफ्ट का यह प्रोटेक्‍शन प्रोग्राम वायरस और ऑनलाइन अटैक रोकने में और भी कारगर साबित हो सकता है।

अपने कंप्‍यूटर पर कैसे करेंगे इस्‍तेमाल

क्रोम पर विंडोज डिफेंडर प्रोटेक्‍शन का इस्‍तेमाल करने के लिए ब्राउजर पर सबसे पहले Chrome Web Store खोलिए और वहां विंडोज डिफेंडर प्रोटेक्‍शन सर्च कीजिए। फिर एक्‍सटेंश पेज पर जाकर उसे Add to Chrome कीजिए, इसके बाद OK प्रेस कीजिए बस आपका ब्राउजर प्रोटेक्‍शन प्रोग्राम एक्टिव हो जाएगा।

इनपुट: Microsoft


यह भी पढ़ें:

Windows की Blue Screen एरर से आप ही नहीं माइक्रोसॉफ्ट भी परेशान है! तभी तो मिली है ये अपडेट

इंटरनेट की दुनिया में बड़ा बदलाव! Chrome और Firefox पर बिना पासवर्ड होगा लॉगइन, ताकि पर्सनल डेटा रहे सुरक्षित

LPG सिलेंडर पर लिखे नंबरों का मतलब जानते हैं? अगर नहीं तो मुश्किल में पड़ सकते हैं आप

Technology News inextlive from Technology News Desk