- ई-सुविधा केंद्रों से सारथी फोर और वाहन फोर संबंधी सभी कार्यो के लिए किए जा सकेंगे आवेदन

- शासन को भेजा गया प्रस्ताव, होली के बाद लग सकती है इस पर मुहर

sanjeev.pandey@inext.co.in

LUCKNOW : लर्निग लाइसेंस के लिए आवेदन करना हो, लाइसेंस में पता बदलवाना हो या डुप्लीकेट लाइसेंस लेना हो. इसके लिए अब ना तो दलालों के चक्कर लगाने होंगे और ना आरटीओ ऑफिस तक भाग दौड़ करनी होगी. बस के घर के निकटतम ई-सुविधा केंद्र तक जाकर आवेदन करना होगा. सिर्फ लाइसेंस ही नहीं वाहन संबंधी कार्यो के लिए भी लोग ई सुविधा केंद्रों से आवेदन कर सकेंगे. डुप्लीकेट आरसी, एड्रेस चेंज इन आरसी समेत वाहन संबंधी कई काम ऑनलाइन कर सकेंगे. परिवहन विभाग के अनुसार उम्मीद है कि शासन इस मामले में होली के बाद अपनी सहमति दे सकता है.

सभी काम ऑनलाइन

आरटीओ ऑफिस में होने वाले सभी काम जल्द ही ऑनलाइन हो जाएंगे. आरटीओ ऑफिस में लाइसेंस संबंधी कार्यो के लिए सारथी-4 और वाहन संबंधी कार्यो के लिए वाहन-4 सॉफ्टवेयर तैयार किया गया है. सिर्फ प्रदेश में ही नहीं देश भर में इस प्रारूप पर काम हो रहा है.

नॉमिनल होगा चार्ज

अधिकांश लोग आरटीओ ऑफिस में मिलने वाली ऑनलाइन सुविधाओं का उपयोग सिर्फ इसलिए नहीं कर पाते कि उन्हें टेक्निकल नॉलेज नहीं होती . ऐसे में ये लोग दलाल की शरण लेने को मजबूर हो जाते हैं. इसी के चलते परिवहन विभाग ने ऐसे लोगों को राहत देने के लिए ई-सुविधा केंद्र पर इस तरह के आवेदनों की सुविधा देने की तैयारी कर ली है. ई-सुविधा केंद्र पर आवेदक से नॉमिनल चार्ज वसूला जाएंगा और केंद्र पर मौजूद व्यक्ति उसकी तरफ से आवेदन कर देगा. सुविधा केंद्रों पर इसके लिए अलग से काउंटर बनाए जाने की तैयारी है. परिवहन विभाग ने इसके लिए प्रस्ताव शासन को भेज दिया है. उम्मीद है कि शासन से इस पर होली के बाद सहमति मिल सकती है. इसके लिए बस एक बैठक होनी है.

कोट

शासन को प्रस्ताव भेजा जा चुका है. पहले इसमें सिर्फ लाइसेंस का मामला ही शामिल था, लेकिन अब सभी व्यवस्थाएं ऑनलाइन हो गई हैं. ऐसे में सारथी-4 और वाहन-4 दोनों के लिए ही ई-सुविधा केंद्रों से आवेदन किए जा सकेंगे.

संजय नाथ झा,

सीनियर आरटीओ, इंचार्ज आईटी सेल,उप्र परिवहन विभाग