अवैध खनन के खिलाफ कार्रवाई करने पहुंची थी पुलिस टीम

हमले के दौरान पुलिस के हथियार दे गए जबाव

आगरा. थाना खेरागढ़ में खनन माफिया के ट्रैक्टर का पीछा करना दरोगा पर तब भारी पड़ गया, जब माफिया टीम ने पुलिस पर ही हमला बोल दिया. जानकारी होने पर जब पुलिस टीम मौके पर पहुंची तो गुर्गो ने पुलिस पार्टी पर पथराव कर दिया. उस दौरान पुलिस की एसएलआर भी जवाब दे गई. असफल हुई पुलिस को उल्टे पांच वापस लौटना पड़ा.

सूचना पर पहुंचे थे एसआई

शनिवार सुबह दस बजे तहसीलदार विनोद कुमार की सूचना पर एसआई दरोगा मनोज सिंह फोर्स के साथ अवैध खनन के बालू भरे ट्रैक्टर को पकड़ने के लिए सोन चीत रोड पर पहुंचे. पुलिस की गाड़ी को देखते ही चालक ट्रैक्टर को लेकर राजस्थान की तरफ भागने लगा. पीछा करते हुए एक सिपाही ट्रैक्टर पर चढ़ गया.

मौके पर पहुंचा पुलिस फोर्स

सिपाही के चढ़ने के बाद भी चालक ने ट्रैक्टर नहीं रोका. सिपाही किसी तरह ट्रैक्टर से नीचे उतरा. एसआई वायरलैस कर थाने से अतिरिक्त फोर्स मौके पर बुलवाया. मौके पर थाना प्रभारी नरेन्द्र शर्मा, एएसएसआई राजेश सिंह, पीआरवी 51, चीता मोबाइल मौके पर पहुंच गई. उधर खनन माफिया के दो ट्रैक्टरों में भरे भारी संख्या में लोग पहुंच गए.

पुलिस पार्टी पर बोला हमला

ट्रैक्टरों से भर कर आए लोगों ने पुलिस पर हमला कर दिया. पत्थर चलने से मौके पर अफरा-तफरी मच गई. उस दौरान एसएसआई राजेश सिंह ने एसएलआर से फायर करने का प्रयास किया लेकिन वह धोखा दे गई. पीआरवी पिस्टल भी जबाव दे गई. अपने हथियार फेल होने के बाद पुलिस को पीछे हटना पड़ा. लोग ट्रॉली में ईट, पत्थर लाए थे. उनके पास डंडे भी थे.

मौके पर पहुंचे अधिकारी

सूचना पर एसडीएम सुरेन्द्र सिंह व सीओ बीएस वीर कुमार मौके पर पहुंच गए. मौके पर सर्किल का फोर्स जुट गया. सर्किल के फोर्स ने आसपास सघन चेकिंग शुरू की. पुलिस ने सोन चीत रोड से पत्थर से भरा ट्रैक्टर जब्त कर लिया. लौटते समय पुलिस ने बालू खनन का एक और ट्रैक्टर बरामद किया.

पूर्व में पुलिस ने की थी कार्रवाई

एसडीएम सुरेन्द्र सिंह ने के मुताबिक दो दिन पहले पुलिस ने कार्रवाई कर छह ट्रैक्टर पकड़े थे. इस कार्रवाई से खनन माफिया बौखला गए और हमला कर दिया. एसडीएम के मुताबिक खनन के खिलाफ अभियान जारी रहेगा.