- सहकारिता सम्मेलन में बोले प्रदेश के कृषि मंत्री सूर्य प्रताप शाही

GORAKHPUR: देश के प्रधानमंत्री का संकल्प है कि किसानों की आय दोगुनी की जाए, यह तभी संभव हो सकता है जब खाद्यान्न उत्पादन की लागत में कमी आए और किसानों का उत्पाद अच्छे दाम पर बिके. इफको इसमें किसानों की अच्छी मदद कर सकता है. यह बातें शनिवार को प्रदेश के कृषि मंत्री सूर्य प्रताप शाही ने गोरखपुर में 'कृषि, किसान व सहकारिता सम्मेलन' को संबोधित करते हुए कही. उन्होंने कहा कि इफको ने डीएपी की दर 1076 रुपए से घटाकर 1050 रुपए कर दिया है. इस अवसर पर मंत्री ने कृषि प्रदर्शनी का शुभारंभ भी किया.

जैविक खाद को दें बढ़ावा

सूर्य प्रताप शाही ने कहा कि इफको को पूर्वाचल के किसानों का विशेष सहयोग करना होगा. लाल बहादुर शास्त्री ने जिस तरह से देश को 'जय जवान जय किसान' का नारा दिया और विदेश से मंगाए जाने वाले खाद्यान्न पर रोक लगाते हुए देश में ही खाद्यान्न उत्पादन को बढ़ावा दिया था, उसी तरह से फिर से देश में हरित क्रांति को दोहराना होगा. किसान रासायनिक उर्वरक के स्थान पर जैविक खाद का प्रयोग करें. पशुपालन को बढ़ावा दें ताकि कंपोस्ट खाद का उत्पादन हो. उन्होंने कहा कि इफको को जिले के प्रत्येक ब्लॉक पर होल सेल सेंटर स्थापित करना चाहिए ताकि अपने किसानों के उत्पादन को बेचा जा सके. कार्यक्रम में मुख्य रूप से जयकरन यादव, जितेन्द्र बहादुर सिंह, गुलाब ध्वज सिंह, इन्द्र प्रकाश सिंह, कपिलदेव सिंह, बेचन, प्रभाकर त्रिपाठी, कृष्ण मुरारी त्रिपाठी, अनामिका सिंह, राम दुलारे यादव, हरिओम पटेल, गंगा सिंह, नीतू सिंह, राज उजागिर चौधरी, सत्य नारायण चौधरी, बिजेन्द्र कुमार चौधरी, सुरेंद्र राय, डॉ. उदय शंकर अवस्थी, कृषि विभाग के संयुक्त निदेशक, उप निदेशक केपी द्विवेदी, राजकुमार त्रिपाठी, सीताराम जायसवाल, गंगा राय सहित कई अन्य लोग उपस्थित रहे.