- एक किशोरी दिल्ली से शाहजहांपुर जाते समय नाराज होकर पहुंची बरेली

- दूसरी किशोरी चाचा से नाराज होकर जा रही थी लुधियाना

BAREILLY :

बरेली जंक्शन पर घर से भागी दो किशोरियां थर्सडे को बरामद हुई. दोनों के भागने के कारण सुनकर किसी को भी हैरानी हो सकती है. एक ने मां द्वारा मोबाइल ना दिलाने से नाराज होकर अपना घर छोड़ दिया, जबकि दूसरी ने चाचा की प्रताड़ना से बचने और पढ़ने के लिए घर छोड़कर भाग रही थी. पूछताछ में दोनों ने जीआरपी को बताया कि नाराज होकर वे अपने-अपने घर को छोड़कर भागी हैं. देर रात चाइल्ड लाइन ने उन्हें सीडब्ल्यूसी के मजिस्ट्रेट डीएन शर्मा के आदेश पर दोनों को स्वधार गृह भेज दिया है.

जंक्शन पर मिली बैठी

दिल्ली की ओल्ड सीमापुरी निवासी 14 वर्षीय किशोरी अपने माता-पिता से एंड्रॉयड फोन की डिमांड कर रही थी. किशोरी की मां को थर्सडे को शाहजहांपुर रिश्तेदारी में जाना था. उन्होंने बेटी से भी साथ चलने को कहा, लेकिन किशोरी ने मोबाइल के बगैर जाने को मना कर दिया. इस पर किशोरी की मां ने शाहजहांपुर में फोन दिलाने की बात कह उसे साथ चलने पर राजी कर लिया. शाहजहांपुर पहुंचने पर किशोरी ने मोबाइल की डिमांड कर दी. जब मां उसे मोबाइल नहीं दिला सकी तो वह नाराज होकर वहां से भाग गई और दिल्ली जाने वाली ट्रेन में बैठ गई. ट्रेन के बरेली जंक्शन पहुंचने पर वह यहां उतर गई. परेशान किशोरी को प्लेटफॉर्म नम्बर-1 पर बैठा देख एक महिला ने रेलवे चाइल्ड लाइन को सूचना दी. चाइल्ड लाइन ने किशोरी से पूछताछ की तो उसने बताया कि वह हाईस्कूल में पढ़ाई कर रही है. उसके माता-पिता ने मोबाइल दिलाने का वादा तोड़ दिया था, जिससे उसने घर छाेड़ दिया.

चाचा से नाराज होकर छोड़ा घर

वहीं, हरदोई के संडीला की रहने वाली 13 वर्षीय किशोरी भी प्लेटफॉर्म नम्बर-1पर शाम को रोती हुई मिली. एक युवक ने उसे रोता देख चाइल्ड लाइन को फोन पर सूचना दी. सूचना पर पहुंची चाइल्ड लाइन किशोरी को अपने साथ ले गई और पूछताछ की तो किशोरी ने बताया कि वह आठवीं पढ़ी हैं. उसके पिता नहीं है जबकि मां हैं लेकिन, वह चाचा के पास रहती है. उसके चाचा उससे घर का काम कराते हैं, लेकिन वह पढ़ना चाहती है. जबकि उसके चाचा उसे पढ़ाना नहीं चाहते हैं. इससे परेशान होकर वह अपने रिश्तेदार के पास लुधियाना जा रही थी.

स्वधार गृह भेजी गई किशोरी

जंक्शन पर मिली दोनों किशोरियों को रात साढ़े नौ बजे चाइल्ड लाइन ने सीडब्ल्यूसी से आर्डर कराने के बाद स्वधार गृह भेज दिया है. दोनों को फ्राइडे को मेडिकल के लिए भेजा जाएगा. वहीं चाइल्ड लाइन ने दोनों किशोरियों के परिजनों को सूचना दे दी है. बताया जा रहा है कि दोनों किशोरियों के परिजन भी फ्राइडे को शहर पहुंचने की बात कह रहे थे.