-कांग्रेसियों के हुजूम को देख बंद होने लगी दुकानें

-बंदी को सफल बनाने के लिए बनाई गई थी पांच टोलियां

-कुछ देर के लिए गिरा रहा दुकानों का शटर, कार्यकर्ताओं के जाते ही खुल गई दुकानें

GORAKHPUR: पेट्रोलियम दामों में बढ़ोत्तरी के खिलाफ सोमवार को भारत बंदी का गोरखपुर में मिलाजुला असर दिखा. सुबह से कांग्रेसियों ने शहर के विभिन्न एरिया की दुकानों को बंद कराया. पेट्रोल पंप भी बंद कराए गए. कई जगहों पर इसके विरोध में प्रदर्शन हुए. कार्यकर्ताओं ने शांतिपूर्ण बंदी को सफल बनाया. हालांकि इस दौरान कई जगहों पर कार्यकर्ता उग्र हुए, लेकिन भारी पुलिस फोर्स की मुस्तैदी के चलते कोई घटनाएं सामने नहीं आई.

कांग्रेस के राष्ट्रीय नेतृत्व के आह्वान पर कार्यकर्ता सुबह नौ बजे नगर निगम के रानी लक्ष्मीबाई पार्क में इकट्ठा हुए. बंद को कामयाब बनाने के लिए पांच टोलियां बनाई गई थी. सुबह 10.20 बजे कांग्रेस के राष्ट्रीय सचिव व पर्यवेक्षक राना गोस्वामी की अगुवाई में कार्यकर्ता जुलूस की शक्ल में सरकार विरोधी नारे लगाते हुए गोलघर पहुंचे. कार्यकर्ताओं के हुजूम को देखते हुए दुकानों के शटर गिरने लगे. कुछ देर में गोलघर की सभी दुकानें व रेस्टोरेंट बंद हो गए. बलदेव प्लाजा और मंगलम टॉवर में कुछ दुकानें खुली हुई थी जिसे प्रदर्शनकारियों ने बंद कराया. दूसरी ओर, जिलाध्यक्ष डॉ. सैयद जमाल और मंडल प्रभारी ईश्वर चंद्र शुक्ला के नेतृत्व में कार्यकर्ता विजय चौराहे पर पहुंचकर दुकानें बंद कराने लगे. देखते ही देखते विजय चौराहे से लेकर टाउलहाल व विजय चौराहे से सुमेर सागर तक दुकानें बंद हो गई. उस वक्त विजय सिनेमा में मॉनिंग शो चल रहा था. सुरक्षा के मद्देनजर सिनेमा हॉल का दोनों गेट बंद कर दिया गया. इसके बाद कार्यकर्ताओं की टोली बक्शीपुर, नखास, घोष कंपनी, शास्त्री चौक, अंबेडकर चौक, पैडलेगंज, पार्क रोड पहुंची और दुकानदारों से समर्थन का आह्वान किया. उनके आग्रह पर दुकानदारों ने कुछ देर के लिए शटर गिरा दिया. कार्यकर्ताओं ने दुकान बंद कराने के लिए किसी तरफ की जोर-जबरदस्ती नहीं की. प्रशासनिक एवं पुलिस अधिकारियों की प्रदर्शनकारियों पर पैनी नजर थी. कुछ जगहों पर पुलिस ने वीडियो रिकॉडिंग भी कराई.

आम दिनों की तरह खुले रहे स्कूल कॉलेज

स्कूल-कॉलेज तो आम दिनों की तरह ही खुले रहे, लेकिन आसपास के कस्बों से कम लोग शहर पहुंचे. यातायात भी सामान्य रहा. दोपहर दो बजे तक सभी दुकानें खुल गई.

प्रदर्शन में रहे मौजूद

अरुण अग्रहरि, डॉ. प्रदीप पांडेय, गोरखलाल श्रीवास्तव, दिनेश चंद्र श्रीवास्तव, दिलीप निषाद, मदन त्रिपाठी, डॉ. पीएन भट्ट, राजेश तिवारी, सुरेश चौधरी, संजीव सिंह सोनू, बृज नारायण शर्मा, राणा राहुल सिंह, धर्मराज चौहान, अनवर हुसैन, जयंत पाठक, इंद्रजीत सिंह, परवेज अख्तर, राकेश यादव, सहला अहरारी, निर्मला पासवान, स्नेहलता, हजारी जायसवाल, मारकंडेय प्रसाद सिंह, अजय कन्नौजिया, दिलीप जायसवाल, अजय मिश्रा, बादल चतुर्वेदी, उदयवीर सिंह आदि मौजूद रहे.