- खुद व अपने पति को जान का खतरा बताते हुए मांगी सुरक्षा

- बरेली से भाजपा विधायक हैं पिता पप्पू भरतौल

bareilly@inext.co.in
BAREILLY : अनुसूचित जाति के युवक से शादी करने के बाद बरेली के भाजपा विधायक राजेश मिश्र उर्फ पप्पू भरतौल की बेटी साक्षी और उसके पति ने हाईकोर्ट की शरण ली है। कोर्ट में साक्षी ने अपनी व अपने पति की जान को खतरा बताते हुए सुरक्षा मांगी है। हालांकि दोनों ही थर्सडे को कोर्ट में पेश नहीं हो सके। कोर्ट 15 जुलाई को उनके मामले की सुनवाई करेगी।

चार जुलाई को दोनों ने प्रयागराज में की शादी
बरेली के बिथरी चैनपुर के भाजपा विधायक की बेटी साक्षी दो जुलाई को घर छोड़कर प्रेमी अजितेश के साथ चली गई थीं। चार जुलाई को दोनों ने प्रयागराज में एक मंदिर में शादी कर ली। इसके चार दिन बाद साक्षी ने अजितेश के साथ दो वीडियो वायरल किए, जिसमें उसने खुद को जान का खतरा बताया और सुरक्षा मांगी। वीडियो में ये भी कहा कि अगर उन्हें कुछ होता है तो इसके जिम्मेदार पप्पू भरतौल और उनके साथी होंगे।

अनुसूचित जाति का होने की वजह से विरोध
साक्षी ने जिस युवक अजितेश से शादी की है, वह भी एक विधायक का रिश्तेदार है और बरेली में वीर सावरकर नगर कॉलोनी में रहता है। एक वीडियो में अजितेश ने भी साक्षी के साथ ही खुद को जान का खतरा बताया है और कहा है कि अनुसूचित जाति का होने की वजह से उनका विरोध किया जा रहा है। साक्षी ने वीडियो में किसी राजीव राणा का जिक्र करते हुए कहा कि उनके पिता ने उनकी हत्या के लिए उन्हें ही पीछे लगाया है।

साक्षी और अजितेश कुमार बालिग
उधर, याची के एडवोकेट विकास राणा का कहना है कि साक्षी और अजितेश कुमार बालिग हैं और अपनी मर्जी से मंदिर में शादी की है। याचिका में बरेली पुलिस पर भी विधायक पिता के दबाव में काम करने का आरोप लगाया गया है। कहा गया है कि याची ने डीएम व एसएसपी से शिकायत की, लेकिन उन्हें सुरक्षा नहीं दी गई।

बेटी बालिग है, उसको फैसला लेने का अधिकार है। मैंने या मेरे किसी समर्थक ने कोई धमकी नहीं दी। बेटी चाहे जहां रहे, खुश रहे।
- राजेश मिश्रा उर्फ पप्पू भरतौल, विधायक

अभी तक ऐसी कोई शिकायत नहीं आई है। साक्षी यदि सुरक्षा मांगती हैं तो तुरंत मुहैया कराई जाएगी।
- मुनिराज जी., एसएसपी

प्लीज पापा, अपनी सोच बदलो
पापा और विक्की। पापा बोले तो माननीय विधायक पप्पू भरतौल जी और विक्की भरतौल जी। प्लीज अब मान जाओ और शांति से जिओ और रहने दो, क्योंकि मैंने सच में शादी कर ली है। ये सिंदूर मैंने फैशन में नहीं लगा रखा है। शादी कर ली है इसलिए लगा रखा है, और प्लीज पापा अपनी सोच बदलो। अजि (अजितेश) और अजि की फैमिली इंसान ही हैं, कोई जानवर नहीं हैं वो लोग। तो प्लीज अपनी सोच बदलो। अच्छे लोग हैं। मैं खुश रहूंगी उनके साथ।

(सोशल मीडिया पर जारी साक्षी की अपील के अंश)