-दामोदर पार्क में धरना-प्रदर्शन, गिरफ्तार युवकों के छोड़ने की मांग

BAREILLY: कैंट के भोलापुर-हिंडौलिया में भैंस चोर शाहरुख की पीट-पीटकर हत्या के मामले में पुलिस कार्रवाई का विरोध शुरू हो गया है. फ्राइडे को डीएम आवास पर विरोध के बाद सैटरडे को गांव वालों ने सेठ दामोदर पार्क स्वरूप में धरना दिया और फिर कलेक्ट्रेट तक प्रदर्शन कर ज्ञापन सौंपा. प्रदर्शनकारियों ने अल्टीमेटम दिया कि 4 दिन में पीडि़तों को नहीं छोड़ा गया तो भूख हड़ताल की जाएगी. प्रदर्शन करने वालों का आरोप है कि पुलिस ने गांव के लोगों को गलत गिरफ्तार कर जेल भेजा है. वहीं पुलिस ने सैटरडे को शाहरुख के साथी माजिद और पप्पू को कोर्ट में पेश कर जेल भेज दिया है. इन दोनों को फ्राइडे को पुलिस ने हिरासत में ि1लया था.

ट्यूजडे रात हुई थी हत्या

बता दें कि ट्यूजडे रात भोलापुर-हिंडोलिया में ठिरिया निजावत खां निवासी शाहरुख को भैंस चोरी के आरोप में गांव वालों ने पकड़ लिया था. गांव वालों ने उसकी जमकर पिटाई की थी और तीन घंटे बाद पुलिस को सौंपा था. पुलिस उसे हॉस्पिटल ले गई, जहां उसकी मौत हो गई थी. पुलिस ने इस मामले में भैंस मालिक गजेंद्र की ओर से शाहरुख, माजिद, पप्पू व एक अन्य के खिलाफ चोरी की एफआईआर दर्ज की थी और दूसरी एफआईआर शाहरुख के भाई फिरोज की ओर से माजिद, पप्पू, एक अज्ञात व गांव वालों पर दजर्1 की थी.

5 लोगों की गिरफ्तारी का विरोध

पुलिस ने इस मामले में वेडनसडे को ही गांव के 4 लोगों को पकड़ा था लेकिन पूछताछ के बाद छोड़ दिया था, क्योंकि इनके नाम मुकदमे में नहीं थे, लेकिन जब मामले ने तूल पकड़ा तो पुलिस ने जांच में 5 आरोपियों भैंस मालिक गजेंद्र, उसका भतीजा कृष्णपाल, मुकेश, मुकेश पाल और ऐबरन के नाम खोल दिए और फ्राइडे को सभी को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया. इन्हीं लोगों की गिरफ्तारी का गांव वाले विरोध कर रहे हैं. इसी को लेकर सैटरडे को दामोदर स्वरूप पार्क में धरना-प्रदशर्न कर विरोध जताया गया.

डीएम आवास पर हंगामे में एफआईआर

गांव के लोगों को गिरफ्तार करने का विरोध फ्राइडे को भी हुआ था. अखिल भारतीय लोधी महासभा यूपी की प्रदेश महामंत्री राजरानी लोधी की मौजूदगी में कुछ लोग कैंट थाना पहुंचे थे और पुलिस से नोकझोंक हुई थी. उसके बाद यह सभी लोग ट्रैक्टर-ट्रालीसे डीएम आवास पर पहुंच गए थे और विरोध प्रदर्शन किया था. पुलिस के मना करने पर नोकझोंक की थी. इस मामले में स्टेशन रोड चौकी इंचार्ज विनोद चौहान ने राजरानी, जागनलाल, कढ़ेराम और 20 अज्ञात लोगों के खिलाफ धारा 144 का उल्लंघन करने के तहत एफआईआर दर्ज की है.