- निष्पक्ष चुनाव कराने में सतर्क नागरिकों की सहभागिता के लिए इलेक्शन कमिशन ऑफ इंडिया ने तैयार किया ऐप

- सभी नए एंड्रायड स्मार्ट फोन के अनुकूल है ऐप, शिकायत के 100 मिनट में मिलेगी कार्रवाई की जानकारी

देहरादून, आगामी चुनावों के दौरान कोई राजनीतिक दल या प्रत्याशी आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन करता है, तो इसकी शिकायत अब आम आदमी अपने स्मार्ट फोन के जरिए कर सकेगा. इसके लिए उसे सी-विजिल ऐप डाउनलोड करनी होगी और इस ऐप पर की गई कंप्लेन को इलेक्शन कमिशन द्वारा मॉनिटर किया जाएगा.

100 मिनट में एक्शन का दावा

लोकसभा चुनावों की आदर्श आचार संहिता लागू होते ही इलेक्शन कमिशन द्वारा सी-विजिल ऐप का एक्टिव कर दिया जाएगा. इस ऐप के जरिए कोई भी आचार संहिता के उल्लंघन की सूचना इलेक्शन कमिशन को दे सकेगा और कंप्लेन अपलोड होने के 100 मिनट के भीतर की गई कार्रवाई की जानकारी भी शिकायतकर्ता को ऐप के माध्यम से दे दी जाएगी.

ऐसे काम करेगी ऐप्लीकेशन

सबसे पहले सी-विजिल ऐप्लीकेशन को अपने स्मार्ट फोन पर प्ले स्टोर से इंस्टॉल करना होगा. ऐप का ऑपरेटिंग मॉडल 3 स्टेप में काम करेगा. पहले स्टेप में फोटो या वीडियो का ऑप्शन मिलेगा, जिसमें आचार संहिता उल्लंघन की कवरेज करनी होगी. फोटो या वीडियो जीपीएस के जरिए ऑटोमेटेड लोकेशन मैपिंग के साथ खुद ही अपलोड हो जाएगी और शिकायतकर्ता को उसके मोबाइल पर एक यूनिक आईडी मिल जाएगा. जबकि दूसरे चरण में व्यक्ति द्वारा ऐप से शिकायत करने पर इसकी सूचना इलेक्शन कमिशन के कंट्रोल रूम में ब्लिंक करेगी, कंप्लेन को संबंधित यूनिट को फॉरवर्डे कर दिया जाएगा. हर फील्ड यूनिट के पास जीआईएस बेस्ड मोबाइल ऐप्लीकेशन होती है, जिसे सी-विजिल डिस्पैचर कहते हैं. फील्ड यूनिट को लोकेशन सहित शिकायत प्राप्त हो जाती है. थर्ड स्टैप में फील्ड यूनिट के जरिए कार्रवाई संबंधित आरओ को निर्णय व निस्तारण के लिए सी-विजिल डिस्पैचर के माध्यम से की गई कार्रवाई की रिपोर्ट दी जाएगी. मामला सही पाया जाता है तो इलेक्शन कमिशन ऑफ इंडिया के नेशनल पोर्टल पर फॉरवर्ड कर दिया जाएगा. इसके बाद शिकायतकर्ता को 100 मिनट के दरम्यान कार्रवाई से सूचित कर दिया जाएगा.