PATNA : पटना में मोबाइल लुटेरों का गैंग कारपोरेट के तर्ज पर संचालित हो रहे हैं। इस गैंग के सभी सदस्यों को बकायदा वीकली ऑफ निर्धारित है। इतना ही नहीं, जो जितना मोबाइल लूटकर गिरोह के सरगना को देता है उसे उतनी ज्यादा इंसेंटिव भी मिलती है। पुलिस के विश्वसनीय सूत्रों की माने तो गिरोह का सरगना बब्लू अपने गैंग को कारपोरेट के तर्ज पर चलाता है। इसके साथ ही वह गैंग के सदस्यों को मोबाइल छिनने का टारगेट भी देता था। जो ज्यादा मोबाइल छिनता है उसे इंसेंटिव के रूप में अतिरिक्त रूपए देता था। इस कारण आसानी से उसके साथ लोग जुट जाते थे। पुलिस ने आरोपियों के पास से 7 मोबाइल बरामद किया है। पुलिस ने सोमवार को सरगना ब?लू सहित चार लोगों को गिरफ्तार किया है। मामले में पुलिस इनके अन्य सदस्यों की तलाश कर रही है।

गठित हुई थी एसआईटी

दरअसल 29 मार्च 2019 की रात करीब 9 बजे इको पार्क के पास बाइक सवार बदमाशों ने धनराज नाम के युवक का मोबाइल छीनकर भाग गए। पुलिस ने धनराज की शिकायत पर अज्ञात के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया। घटना की गंभीरता को देखते हुए पुलिस ने डीएसपी सचिवालय के नेतृत्व में एक टीम का गठन किया। इस टीम ने अनुसंधान के दौरान तकनीकी साक्ष्य के आधार पर घटना में संलिप्त चार लोगों को हिरासत में ले लिया।

सस्ते में बेच देते हैं मोबाइल

पुलिस की पूछताछ में सरगना ब?लू उर्फ सर जी ने बताया कि ये लोग मोबाइल चोरी करने के बाद ऑटो चालक और रिक्शा चालक को 500 और एक हजार रुपए में बेच देते थे। पूरा पैसा ब?लू अपने पास रखता था। इसके बाद वो अपने अन्य सदस्यों को उनके काम के मुताबिक रुपए देता था। जो अधिक मोबाइल छिनता उसे अधिक रुपए दिया जाता था।

हत्या का आरोपी है सरगना

गिरफ्तारी के बाद पुलिस ने बदमाशों का अपराधिक रिकॉर्ड खंगाला। जांच में ये सामने आया है कि ब?लू कुमार फतुहा थाना क्षेत्र में हत्याकांड का आरोपी है। इसके साथ ही कोतवाली थाने में आ‌र्म्स एक्ट का भी मुकदमा दर्ज हुआ है। आरोपी ब?लू पटना रेल थाना अंतर्गत चोरी के मामले में जेल भी जा चुका है। साथ ही आरोपी अमन कुमार पूर्व में जेल जा चुका है। शंकर भी पटना रेल थाना अंतर्गत चोरी के मामले में जेल जा चुका है।

किराए के मकान में रहते हैं

पुलिस किराएदारों का सत्यापन पर जोर नहीं देती है। इसका नतीजा ये है कि पटना में चोर, उचक्के, बदमाश किराए पर मकान लेते हैं और अपराधिक घटनाओं को अंजाम देते हैं। पटना पुलिस ने जिन मोबाइल गिरोह का पर्दाफाश किया है। इसमें दो लोग अमन कुमार और ब?लू पटना में किराए के मकान में रहते थे और मोबाइल छिनने जैसा गंभीर अपराध करते थे।