विपक्ष के निशाने पर
संसद का बजट सत्र सोमवार से शुरू हो रहा है. एक महीने से अधिक समय तक चलने वाले सत्र में महंगाई का मुद्दा छाए रहने की संभावना है. इस सत्र में नरेंद्र मोदी सरकार अपना पहला बजट पेश करेगी. वहीं बजट से पहले रेल यात्री किराया, गैस और पेट्रोल व डीजल के दामों में बढ़ोतरी को लेकर मोदी सरकार पहले से ही विपक्ष के निशाने पर हैं. वहीं देश में चुनी गई नई मोदी सरकार के कार्यकाल के पहले बजट सत्र की शुरुआत में हंगामा होना तय माना जा रहा है. विपक्ष संसद में आसमान छूती महंगाई, बजट से पहले रेल किराये और मालभाड़े में की गई वृद्धि तथा इराक में भारतीय नागरिकों के मुद्दे को लेकर सरकार को घेरने की पूरी तैयारी में है.
 
मुद्दों की कमी नहीं

वहीं सरकार को घेरने के लिए विपक्षी दलों के पास मुद्दों की कमी नहीं है. इनमें सुप्रीम कोर्ट के न्यायाधीश के तौर पर फॉर्मर सॉलिसीटर जनरल गोपाल सुब्रमण्यम का नाम ठुकराए जाने को लेकर उठा विवाद, केंद्रीय मंत्री निहालचंद पर बलात्कार के आरोप से उठा विवाद तथा देश में महिलाओं के खिलाफ ज्यादती के बढ़ते मामले शामिल हैं.

कब-कौन सा बजट होगा पेश

माना जा रहा है कि सत्र के पहले दिन की बैठक में इराक में भारतीयों की स्थिति पर संसद के दोनों सदनों में विदेश मंत्री सुषमा स्वराज की ओर से बयान दिया जाएगा. रेल बजट 8 अगस्त को पेश किया जाएगा. इसके अगले दिन आर्थिक सर्वे पेश होगा. 10 जुलाई को वर्ष 2014-15 के लिए केंद्रीय बजट पेश किया जाएगा.

National News inextlive from India News Desk