सर से हट गया बोझ: आमिर के भाई
मुहम्मद आमिर पर स्पॉट फिक्सिंग की वजह से लगे पांच साल के प्रतिबंध के सात साल बाद आखिरकार उनके परिवार को अब सुकून मिला है। उनके भाई नावेद और एजाज ने कहा कि आमिर ने भारत के खिलाफ चैंपियंस ट्रॉफी के फाइनल में बेहतरीन स्पैल फेंका और इसके बाद पूरे पाकिस्तान में जो जश्न मनाया गया उसने उनके ऊपर से बड़ा बोझ हटा दिया। नावेद ने कहा, 'हमारा गांव रावलपिंडी के पास गुज्जर खान के पास चंगा बंगील है। स्पॉट फिक्सिंग कांड होने के बाद हमें काफी शर्मिंदगी झेलनी पड़ी और लोगों ने हमारे साथ काफी बुरा वर्ताव किया। अब हमारा परिवार डिफेंस लाहौर में शिफ्ट हो गया है, लेकिन हमारी जड़ें गांव से जुड़ी हैं और अब जब हम वहां जाएंगे तो हम अपने लोगों से एक बार फिर गर्व के साथ मिल सकेंगे। अपनी सजा पूरी करने के बाद आमिर पाकिस्तान के लिए कुछ ऐसा करना चाहता था जिससे वह अपनी गलती को सुधार सके और मुझे लगता है कि रविवार को उसने ऐसा कर दिखाया।
कोहली की मुस्कान पाक फैंस के ठहाकों पर भारी!

champions trophy 2017: फाइनल के हीरो रहे आमिर के लिए ये विकेट नहीं बल्‍कि दाग धोने का ईनाम था

मौके का उठाया फायदा
गरीब परिवार से संबंध रखने वाले आमिर सात बच्चों में छठे नंबर के हैं। वे छह भाई और एक बहन हैं। नावेद का कहना है कि उनके छोटे भाई ने 2010 में की गई गलती को अब सुधारना शुरू कर दिया है। उन्होंने कहा, 'हमारे गांव से हर कोई हमें फोन कर रहा है और फाइनल में आमिर के प्रदर्शन पर बधाई दे रहा है।
स्पॉट फिक्सिंग के कारण करियर के पांच अहम साल बर्बाद करने वाले पाकिस्तान के तेज गेंदबाज मुहम्मद आमिर को ओवल में चैंपियंस ट्रॉफी के फाइनल मुकाबले में भारत के खिलाफ उचित मंच मिला, जिसका उन्होंने पूरा फायदा उठाया। आमिर ने करीब डेढ़ साल पहले अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में वापसी की। उन्होंने कुछ अच्छे प्रदर्शन किए और भारत के खिलाफ मीरपुर में टी-20 मैच में शानदार स्पैल फेंका। लेकिन, वापसी के लिए उन्हें बड़ा मंच और बड़ा मौका चाहिए था जो उन्हें चिर-प्रतिद्वंद्वी भारत के खिलाफ आइसीसी टूर्नामेंट के फाइनल में मिला, जिसे वह खराब नहीं करना चाहते थे।
नंबर 8 टीम बनी चैंपियंस की चैंपियन

champions trophy 2017: फाइनल के हीरो रहे आमिर के लिए ये विकेट नहीं बल्‍कि दाग धोने का ईनाम था

मैच जिताने वाला खिलाड़ी
पाकिस्तानी कोच मिकी आर्थर ने कहा, 'मैं इतना जानता हूं कि आमिर मैच जिताने वाला खिलाड़ी है। जब कोई बड़ा मुकाबला हो तो वह और अच्छा प्रदर्शन करता है। वह दबाव भरे हालात से नहीं डरता। उसका बड़े मैचों में जज्बा काफी अच्छा है और भारत के खिलाफ मैच में उसने दिखा दिया, जो उसके लिए बड़ा मंच था।
कप्तान व‍िराट कोहली ने कहा, पांड्या ने जगाई थी जीत की उम्मीद

Cricket News inextlive from Cricket News Desk

Cricket News inextlive from Cricket News Desk