क्त्रन्हृष्ट॥ढ्ढ : धुर्वा थाना एरिया में कांट्रैक्टर अजय सिंह की हत्या के पीछे सूद पर दिए पैसे का विवाद है. सोर्सेज के मुताबिक, अजय ने जिस शख्स को सूद पर लाखों रुपए दिए थे, वह वापस करने में आनाकानी कर रहा था. ऐसे में रविवार को वे उस शख्स के पास सूद के रुपए मांगने गए थे. वहां से लौटने के क्रम में ही शूटर्स के मार्फत उनकी हत्या करा दी गई. उन्हें पांच गोलियां मारी गई गई. इस बाबत भाई विजय सिंह के बयान पर अज्ञात लोगों के खिलाफ हत्या की रिपोर्ट थाने में दर्ज कराई गई है. पुलिस मामले की छानबीन में जुट गई है.

स्पॉट से मिले थे चार खोखे

इधर, घटना की जानकारी मिलने के बाद हटिया डीएसपी विकास कुमार पांडेय, धुर्वा थानेदार तालकेश्वर राम सहित अन्य अधिकारी स्पॉट पर पहुंचे. मौके पर से चार खोखे बरामद किए गए थे. ये खोखे नाइन एमएम पिस्टल के थे. ऐसे में अपराधियों ने अजय की हत्या के लिए पिस्टल का ही इस्तेमाल किया था. पुलिस का कहना है कि जल्द ही हत्याओं की शिनाख्त कर उनकी गिरफ्तारी कर ली जाएगी.

किसने कॉल कर बुलाया ?

सोर्सेज के मुताबिक, अजय को उसके मोबाइल पर कॉल कर किसी ने जेएन कॉलेज धुर्वा के पास बुलाया था. ऐसे में जब वे पहुंचे तो उनकी गोलियों से मारकर हत्या कर दी गई. अजय को पांच गोलियां मारी गई थी. गोली उनके गर्दन, छाती और कलाई में लगी थी. ऐसे में पुलिस उस शख्स को आइडेंटिफाई करने की कोशिश कर रही है कि किसने कॉल कर उन्हें बुलाया था.

मृतक की पत्नी से होगी पूछताछ

धुर्वा इंस्पेक्टर तालकेश्वर राम ने बताया कि अजय न तो कैरक्टर के ढीले थे और न ही उन्हें शराब की लत थी. पुलिस यह पता लगाने की कोशिश कर रही है कि हाल के दिनों में अजय ने किन-किन आदमी को सूद का पैसा दिया था. पुलिस उनकी पत्‍‌नी से भी पूछताछ करेगी.