तीन पर्यटक हुए घायल, कई बार हो चुकी है शिकायत

आगरा। ताजमहल के दीदार में बंदर बाधा बन रहे हैं. वे पर्यटकों पर हमला तक कर रहे हैं. इससे पर्यटकों में खौफ पैदा हो रहा है. ऐसी घटनाएं बढ़ रही हैं. इसके बाद भी प्रशासन गंभीर नहीं है.

बाहर निकलने के लिए भागे

मंगलवार सुबह ताजमहल को देखने देसी-विदेशी पर्यटक पहुंचे. इसी बीच बंदरों का झुंड पर्यटकों से छेड़खानी करने लगे. उन्होंने विदेशी पर्यटकों को निशाना बनाया. पर्यटक जैसे-तैसे बचते हुए निकलने की कोशिश करने लगे. वे गेट से बाहर निकलने के लिए भागे कि पीछे से बंदरों ने हमला कर दिया. एक व्यक्ति के पैर में काटा. उसे बचाने के लिए महिला समेत कई लोग आगे बढ़े, तो उन्हें भी बंदरों ने निशाना बना डाला.

बंदरों को खदेड़ा गया

इसके अलावा तीन से चार लोगों को काटने का प्रयास किया. इसमें तीन विदेशी पर्यटक घायल हुए. बंदरों के हमला को देखते हुए आसपास मुस्तैद सुरक्षा कर्मी दौड़े. तैनात सीआईएसएफ के जवानों ने सुरक्षा घेरा बढ़ाया. एएसआई के कर्मी राहत के लिए आगे बढ़े. इसके बाद पर्यटकों को बंदरों से किसी तरह बचकर निकाला गया. एक घायल पर्यटक को व्हीलचेयर में ले जाना पड़ा. बंदरों को खदेड़ा गया.

बढ़ गई है मुश्किल

ताजमहल में बंदरों की लगातार संख्या बढ़ने के साथ उग्र भी हो रहे हैं. इससे पहले भी कई बार पर्यटकों को कटाने की घटनाएं हो चुकी हैं. इस मसले को जिला प्रशासन तक मामला पहुंच चुका है. नगर निगम से सहयोग भी मांगा गया है, लेकिन बंदरों से छुटकारा नहीं मिल सका है. मंगलवार की घटना के बाद ताज प्रशासन की मुश्किल बढ़ गई हैं.

कुछ घंटों तक छाया सन्नाटा

बंदरों के दलबल के साथ हमले से अफरातफरी का माहौल हो गया. पर्यटक बचने के लिए इधर-उधर भागने लगे. इससे ताज प्रशासन और सुरक्षा की कुछ समय के लिए हवाइयां उड़ गईं. पूरा अमला पर्यटकों को बचाने में जुट गया. किसी तरह हालात में काबू पाया जा सका. इस घटना के बाद एक घंटे तक बंदरों का खौफ बना रहा. पर्यटकों ने आना-जाना बंद कर दिया.

गेट तक पहुंचने लगे

बंदर मुख्य मकबरे के चारों ओर ही घूमा करते थे. खास तौर पर ताजमहल के बाई ओर पानी कुंड के आसपास ही घूमते थे. इनकी धमक अब आगे गेट तक बढ़ गई है. ये बेंच के आसपास तक पहुंचने लगे हैं.