भारतीय मौसम विभाग (आईएमडी) ने सूचना दी है कि बुधवार को केरल में कई स्थानों पर गहरे काले बादल देखे गए, जिससे बारिश की संभावना पैदा हो गयी है. इसी आधार पर आईएमडी के एक अधिकारी ने अगले 24 घंटे में केरल में बारिश की संभावना जताई है. राज्यो में मछुआरों को चेतावनी दे दी गई है कि समुद्र तटों पर हवा का वेग 45-55 किलोमीटर प्रति घंटा रह सकता है अत वो सावधानी बरतें. हालाकि पहले कहा गया था कि मानसून 30 मई तक आ जाएगा लेकिन ये भी बतसया गया था कि ये एक दो दिन आगे पीछे हो सकता है.

मौसम विभाग से ये भी पता चला है कि जुलाई मध्य तक मानसून पूरे देश में अपना प्रभाव जमा लेगा. आंध्र प्रदेश, तमिलनाडु और राजस्थान में बारिश शुरू हो गयी है. अगले 24 घंटे में उत्तर भारत के कुछ इलाकों में भी अच्छी बारिश की उम्मीद की जा रही है.

कमजोर मानसून बनेगा इस साल भी सूखे का कारण
जून से सितंबर तक रहने वाले दक्षिण पश्चिम मानसून को लेकर ताजा अनु्मान कोई अच्छे आभास नहीं दे रहा है. अनुमान है कि इस साल मानसून सामान्य का 88 फीसदी ही रहेगा. मंगलवार को भारतीय मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) द्वारा जारी मानसून के संशोधित अनुमान में बताया गया कि दीर्घकालिक औसत के मुकाबले इस साल बारिश 88 फीसदी ही रहेगी. इस तरह यह लगातार दूसरा साल होगा जब मानसून के सामान्य से कम रहने की आशंका जताई जा रही है. पिछले साल भी भारतीय मौसम विभाग ने पहले मानसून के दीर्घकालिक अनुमान में 95 फीसदी बारिश के आसार जताए थे लेकिन वास्तविक बारिश 88 फीसदी के करीब ही रही थी.

Hindi News from Business News Desk

Business News inextlive from Business News Desk