ranchi : मंगलवार से शुरू होने वाला झारखंड विधानसभा का मानसून सत्र में जमकर हंगामा होने के आसार हैं. झारखंड धर्म स्वतंत्र विधेयक ख्0क्7, भूमि अर्जन संशोधित विधेयक और किसानों की आत्महत्या समेत कई मुद्दों को सदन में उठाने के लिए जहां विपक्ष के तेवर गरम हैं, वहीं सत्ता पक्ष ने भी विपक्ष के हंगामे से निपटने के लिए रणनीति तैयार कर रही है. इसके अलावा सीएनटी-एसपीटी संशोधित बिल से किनारा किया है, लेकिन सदन में विपक्ष इसे भी मुद्दा बना सकती है.

पेश होगा अनुपूरक बजट

सरकार की ओर से सत्र के दौरान प्रथम अनुपूरक बजट भी पेश किया जाएगा. इसे लेकर भी सत्ता और विपक्ष के बीच सदन के गरमाने की उम्मीद है. गौरतलब है कि विभिन्न मुद्दों को लेकर पछले दो सत्रों की तरह विभिन्न मुद्दों पर सत्तापक्ष और विपक्ष के टकराव के आसार साफ नजर आ रहे हैं.

सीएनटी-एसपीटी एक्ट

विधानसभा के पिछले दो सत्र (शीतकालीन और बजट सत्र) सीएनटी एसपीटी एक्ट में संशोधन के कारण हंगामे की भेंट चढ़ गए थे. हालांकि हंगामे के बावजूद सभी विधायी कार्यो को अंजाम दिया गया था. इस बार विपक्ष के साथ-साथ सत्ता पक्ष के दबाव के चलते राज्य सरकार ने सीएनटी-एसपीटी संशोधित बिल से किनारा किया है. बावजूद इसके विपक्ष इसे मुद्दा बनाएगा. मांग है कि सरकार खुद इसे पूरी तरह से ड्राप करने की घोषणा करे.

झारखंड धर्म स्वतंत्र विधेयक

राज्य सरकार सत्र के दौरान धर्मातरण निषेध बिल (झारखंड धर्म स्वतंत्र विधेयक ख्0क्7) और भूमि अर्जन पुनर्वासन एवं पुन‌र्व्यवस्थापन में उचित प्रतिकार और पारदर्शिता का अधिकार कानून ख्0क्फ् भी संशोधन विधेयक भी इसी सत्र में ला रही है. धर्मातरण बिल को लेकर विरोध के स्वर उठने लगे हैं. झामुमो के नेतृत्व में पूरा विपक्ष इस विधेयक को लेकर सरकार को कठघरे में खड़ा करेगा.

भूमि अर्जन कानून

इसे लेकर घेराबंदी की तैयारी शुरू हो गई है. हां, भूमि अर्जन कानून में संशोधन को लेकर सत्तापक्ष और विपक्ष में सहमति बन सकती है. हालांकि इसका खुलासा सदन के भीतर ही होगा. विधानसभा के मानसून सत्र में सरकार अपना पहला अनुपूरक बजट भी पेश करेगी.

किसानों की आत्महत्या

किसानों की आत्महत्या को भी विपक्ष मुद्दा बनाएगा. पिछले दो माह के दौरान आर्थिक अभाव में सात किसानों ने आत्महत्या की है. झामुमो-कांग्रेस समेत सभी विपक्षी दलों के तेवर इसे लेकर तल्ख हैं.

एनडीए विधायक दल की बैठक आज

विधानसभा के मानसून सत्र को लेकर एनडीए विधायक दल की बैठक मंगलवार शाम मुख्यमंत्री आवास में होगी. जहां सत्र को लेकर सत्तापक्ष अपनी रणनीति को मूर्त रूप देगा.

कल विधानसभा का घेराव करेगी कांग्रेस

मानसून सत्र के दौरान नौ अगस्त को कांग्रेस ने विधानसभा का घेराव करने की घोषणा की है. मुद्दा जमीन संबंधी कानून में संशोधन का है. प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सुखदेव भगत ने बताया कि घेराव एतिहासिक होगा. इस बाबत जोरशोर से तैयारी की जा रही है. राज्य भर से कार्यकर्ता यहां जुटेंगे और सरकार की मनमानी नीतियों का विरोध करेंग