JAMSHEDPUR: झारखंड में इस बार मानसून की इंट्री हफ्ते भर देर से होगी. यह अनुमान है वेदर डिपार्टमेंट का. मौसम विभाग की मानें तो इस साल अच्छी बारिश के आसार हैं. मौसम केंद्र रांची के पूर्वानुमान पदाधिकारी यूके श्रीवास्तव ने बताया कि झारखंड में मानसून आने की तारीख क्ख्-क्फ् जून थी, लेकिन लोकल सिस्टम से सपोर्ट नहीं मिलने के कारण मानसून के झारखंड आने में सप्ताह भर की देर हो सकती है. उन्होंने बताया कि जून, जुलाई, अगस्त और सितंबर को मिलाकर बरसात के चार महीनों में सामान्य बारिश का 99 प्रतिशत बारिश होने के पूरे आसार हैं.

रफ्तार हो गई है धीमी

उन्होंने बताया कि अगले ब्8 घंटों में मानसून तटवर्ती आंध्र प्रदेश, ओडिशा और छत्तीसगढ़ पहुंचने की उम्मीद थी, लेकिन मानसून की रफ्तार थोड़ी थीमी हो गई है. यदि सब कुछ ठीक रहा और सिस्टम ने सपोर्ट किया तो यहां से मानसून के झारखंड में सप्ताह भर का समय लग सकता है. उन्होंने बताया कि विभाग के पूर्वानुमान के मुताबिक क्भ् जून को पश्चिम बंगाल के गांगीय क्षेत्र और बिहार में साइक्लोनिक सर्कुलेशन बनने की पूरी संभावना है, लेकिन इसका विस्तार ऊपर की ओर अधिक होने के कारण झारखंड में बूंदाबांदी की ही उम्मीद है.

कड़ी धूप से परेशानी

दूसरी ओर, बुधवार को भी हवा में भरपूर नमी रही और पुरवा हवाएं चलीं. अधिकतम आर्द्रता 8भ् प्रतिशत और न्यूनतम आ‌र्द्रता भ्क् प्रतिशत होने के कारण दिन भर चिपचिपी गर्मी और उमस ने लोगों को खासा परेशान किया. दिन में कड़ी धूप से भी लोग परेशान रहे. अधिकतम तापमान सामान्य से दो डिग्री सेल्सियस अधिक फ्8.म् डिग्री और न्यूनतम तापमान सामान्य ख्7.ख् डिग्री सेल्सियस रहा, जो सामान्य था.